Tuesday, 8 September 2020

साध्वी से गैंगरेप:चार बदमाशों ने आश्रम के लोगों को बंधक बनाने के बाद साध्वी से ज्यादती की, विरोध करने पर साधु को बेरहमी से पीटा; एक गिरफ्तार

 सोमवार की देर रात गोड्‌डा मुफस्सिल थाना अन्तर्गत महर्षि संतसेवी संतमंत आश्रम में ध्यान-अभ्यास के लिए बनारस से आईं 46 वर्षीय साध्वी के साथ दो अपराधियों ने दुष्कर्म किया। पीड़िता के पिता बोकारो में नौकरी करते थे। पुलिस के मुताबिक इस घटना में चार अपराधी संलिप्त थे। दो आश्रम के बाहर पहरा दे रहे थे, जबकि दो अपराधी दीपक राणा और आशीष राणा आश्रम के अंदर घुसे और गैंगरेप की वारदात को अंजाम दिया। आश्रम में ही रहने वाली एक स्थानीय साध्वी ने अपराधियों को पहचान लिया। उन्होंने अपराधी दीपक से कहा कि हमलोग तो तुम्हारी मां के समान हैं। ऐसी नीच हरकत क्यों करना चाहते हो? पर अपराधियों ने समझाने वाली साध्वी बेबी और पंकज बाबा के साथ भी मारपीट की और दोनों को कमरे में बंद कर दिया।

वहीं आश्रम में ठहरी अन्य दो महिला श्रद्धालुओं को बगल के बाथरूम में बंद कर दिया और बनारस से आईं साध्वी को खींचकर किचन की सीढ़ी के पास जाकर बारी-बारी से दुष्कर्म किया। आश्रम के लोगों का कहना है कि दोनों अपराधी हथियार के साथ थे। रात के करीब दो बजे आश्रम का चारदीवारी कूदकर अंदर पहुंचे। घटना की जानकारी मिलते ही एसपी वाईएस रमेश ने घटनास्थल का दौरा किया और जांच के लिए तत्काल स्पेशल टीम बनाई। आश्रम के साधु व साध्वियों के बयान के आधार पर स्पेशल टीम ने अपराधी दीपक राणा को गिरफ्तार कर लिया है। बता दें कि महर्षि संत-सेवी संत-मंत आश्रम महर्षि मेंही आश्रम की ही एक शाखा है।

3 सितंबर से आश्रम में हो रहा था ध्यान अभ्यास महिला संत्संग आश्रम में 3 सितंबर से ध्यान-अभ्यास वर्ग हो रहा था। इसमें आसपास गांव के सैकड़ों महिला भाग लेती थी। हर रात आश्रम में भी करीब 15-20 महिला श्रद्धालु रुक भी जाती थीं। जीउतीया व्रत आने वाला है इस कारण सोमवार को अधिकांश महिलाएं शाम को ही घर चली गई थीं। आश्रम में केवल चार महिला और एक पुरूष ही थे। बताया जाता है कि बनारस की साध्वी बचने के लिए भागकर साध्वी बेबी और पंकज बाबा के पास गईं। साध्वी बेबी बोलती रही कि हमलोग तुम्हारी मां के समान हैं। ऐसी नीच हरकत क्यों करना चाहते हो? इसपर अपराधी ने दोनों के साथ मारपीट किया और उसी कमरे में बंद कर दिया। आश्रम में ठहरी अन्य दो महिला का बगल के बाथरूम में बंद करने की बात भी सामने आ रही है।

हाल दिनों जेल से छूटकर बाहर आया था दीपक राणा
दुष्कर्म के आरोपी गिरफ्तार दीपक राणा का आपराधिक इतिहास रहा है। जिला के विभिन्न थानों में आर्म्स एक्ट, मारपीट आदि के करीब आधे दर्जन से अधिक मामले चल रहे हैं। हाल के दिनों में वह जेल से बेल पर छूटकर बाहर निकला था। घटना को लेकर उसने पूर्व से षडयंत्र रचा था। बीती रात घटनास्थल से कुछ दूरी पर अपराधियों ने जमकर शराब पी और अपने सहयोगी आशिष राणा एवं अन्य के साथ मिलकर दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया। आरोपी दीपक राणा के खिलाफ नगर थाना मे 7 मामले तथा पोड़ैयाहाट थाना में एक मामला दर्ज है। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि घटना में दो आरोपियों के संलिप्तता की बात सामने आ रही है। घटनास्थल से साक्ष्य जुटाए जा रहे हैं। साक्ष्यों की जांच फॉरेंसिक टीम से कराई जाएगी। वहीं मुफ्फसिल थाना में दीपक राणा, आशिष राणा सहित अन्य दो अज्ञात के विरुद्ध मामला दर्ज कराया गया है।

संतमंत आश्रम के साधुओं में आक्रोश
साध्वी के साथ दुष्कर्म के बाद संतमंत साधु संत आक्रोशित हैं। संतमत आश्रम लहठी के श्रद्धानंद बाबा ने कहा कि अब अपराधी साध्वी के साथ भी दुष्कर्म करने से नहीं हिचक रहे। इससे पता चलता है कि समाज के कुछ लोग कितने नीचे गिर गए हैं। धर्म की बात हर समय बताने वालों को अधार्मिक लोग निशाना बना रहे हैं। यह घोर कलयुग का संकेत है। ऐसे लोगों पर पुलिस प्रशासन तुरंत कार्रवाई करें, नहीं तो अखिल भारतीय संतमंत समाज आंदोलन करने के लिए बाध्य हो जायेगा।

क्या कहना है एसपी का
एसपी वाई एस रमेश ने इस संबंध में पत्रकार सम्मेलन कर जानकारी दिया कि दीपक राणा और आशीष राणा ने इस घटना का अंजाम हथियार के बल पर दिया है। दीपक राणा पर पहले से कई मामले दर्ज हैं। गोड्‌डा मुफस्सिल थाना में संबंधित धाराओं के तहत मामला दर्ज कर आवश्यक कार्रवाई की जा रही है।

गोड्‌डा विधायक ने सभी अपराधियों को तुरंत पकड़ने की मांग की
वहीं गोड्‌डा विधायक अमित मंडल जो कि संतमंत के खुद अनुयायी हैं। उसने इस घटना की कड़ी निंदा की है। अमित मंडल ने प्रशासन से मांग की सभी अपराधियों को तुरंत गिरफ्तार किया जाय तथा अगर कोई ऐसे अपराधियों को राजनीतिक संरक्षण देता है तो उसका भी नाम सरेआम बताया जाए और ऐसे राजनेताओं पर भी कार्रवाई की जाए।

सांसद का हेमंत सरकार पर निशाना
भाजपा सांसद निशिकांत दुबे ने मामला सामने आने के बाद कानून व्यवस्था और सरकार पर सवाल उठाए हैं। उन्होंने ट्वीट के जरिए सरकार को घेरा है। उन्होंने ट्वीट में लिखा-

Lorem ipsum is simply dummy text of the printing and typesetting industry.