Monday, 14 September 2020

जापान में बदलती सियासत:किसान के बेटे योशिहिडे सुगा बनेंगे अगले प्रधानमंत्री, पीएम पद के लिए रूलिंग पार्टी के इलेक्शन में दो सांसदों को पीछे छोड़कर जगह पक्की की

 


जापान के पूर्व प्रधानमंत्री शिंजो आबे के इस्तीफे के बाद किसान के बेटे योशिहिडे सुगा देश के नए प्रधानमंत्री बनेंगे। उन्होंने सोमवार को रूलिंग लिबरल डेमोक्रेटिक पार्टी (एलडीपी) के इलेक्शन में जीत हासिल कर ली। वोटिंग में पार्टी के कुल 534 सांसद शामिल हुए। इसमें सुगा को 377 यानी कि करीब 70% वोट हासिल हुए। अब उनके प्रधानमंत्री बनने का रास्ता साफ हो गया है। सुगा 8 साल तक देश के चीफ कैबिनेट सेक्रेटरी के तौर पर सेवाएं दे चुके हैं। उन्हें शिंजो आबे का करीबी माना जाता है।

प्रधानमंत्री पद के तीन उम्मीदवारों लिए डाइट मेम्बर्स और देश के सभी 47 राज्यों के तीन सांसदों ने वोटिंग की। यही वजह रही कि इसमें 788 सांसदों के बदले सिर्फ 534 सदस्य ही शामिल हुए। इमरजेंसी की स्थिति को देखते हुए यह तरीका अपनाया गया। एलडीपी के सेक्रेटरी जनरल और तोशिहिरो निकाइ ने वोटिंग करवाई।

पीएम पद के लिए दो और नेता थे रेस में

प्रधानमंत्री बनने की रेस में एलडीपी के पॉलिसी चीफ फुमियो किशिदा और पूर्व रक्षा मंत्री शिगेरु इशिबा भी शामिल थे। दोनों ही नेताओं ने शिंजो के पद छोड़ने के तुरंत बाद यह पद संभालने की अपनी इच्छा जाहिर कर दी थी। सबसे अंत में योशिहिडे सुगा का नाम सामने आया था। हालांकि वे सबसे आगे निकल गए। किशिदा को 89 और इशिबा को 68 वोट मिले। निचले सदन में एलडीपी बहुमत में है। ऐसे में यह पक्का है कि अब सुगा ही देश के अगले प्रधानमंत्री होंगे।

सुगा के पिता स्ट्रॉबेरी उगाने वाले किसान थे

6 दिसंबर 1948 को सुगा का जन्म अकिता राज्य में हुआ। सुगा के पिता वासाबुरो सुगा सेकंड वर्ल्ड वार के समय साउथ मंचूरिया रेलवे कंपनी में भी काम किया करते थे। इस जंग में अपने देश के सरेंडर करने के बाद वे वापस जापान लौट आए। उन्होंने अकिता राज्य के युजावा कस्बे में स्ट्रॉबेरी की खेती शुरू की। बड़े बेटे होने के नाते सुगा बचपन में खेतों में अपने पिता की मदद करने जाया करते थे। उनके पिता स्ट्रॉबेरी उगाने के बाद शहर में बेच दिया करते थे। उनकी मां टाटसु एक स्कूल टीचर थीं।

सेक्युरिटी गार्ड और फिश मार्केट तक में काम किया
सुगा अपने पिता की तरह खेती नहीं करना चाहते थे। इसलिए, वे स्कूल की पढ़ाई पूरी करने के बाद घर से भागकर टोक्यो आ गए। यहां आने के बाद उन्होंने कई पार्ट टाइम नौकरियां की। उन्होंने सबसे पहले कार्डबोर्ड फैक्ट्री में काम शुरू किया। कुछ पैसे जमा होने पर 1969 में होसेई यूनवर्सिटी में दाखिला ले लिया। पढ़ाई जारी रखने और यूनिवर्सिटी की फीस भरने के लिए उन्हें कई और पार्ट टाइम किया। सुगा ने एक लोकल फिश मार्केट में और सेक्युरिटी गार्ड के तौर पर भी काम किया।

Lorem ipsum is simply dummy text of the printing and typesetting industry.