कंगना पर शिकंजे की तैयारी:महाराष्ट्र सरकार एक्ट्रेस के ड्रग्स लेने की जांच करेगी, कंगना ने कहा- सबूत मिला तो हमेशा के लिए मुंबई छोड़ दूंगी

 कंगना रनोट और शिवसेना के बीच विवाद गहरा गया है। अब महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने कहा कि कंगना के ड्रग्स लेने की जांच की जाएगी। इसके लिए अध्ययन सुमन (शेखर सुमन का बेटा) के एक इंटरव्यू को आधार बनाया है। अध्ययन ने कंगना पर कई आरोप लगाए थे। इस पर कंगना ने कहा है कि अगर उनके ड्रग्स कनेक्शन का सबूत मिला तो वे मुंबई छोड़ देंगी।

कंगना ने कहा, ‘‘मैं मुंबई पुलिस और महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख के इस उपकार से बहुत खुश हूं। कृपया मेरा टेस्ट कीजिए। मेरे कॉल रिकॉर्ड की जांच कीजिए। अगर आपको ड्रग पेडलर से मेरा कोई लिंक मिलता है तो मैं अपनी गलती स्वीकार करूंगी और मुंबई हमेशा के लिए छोड़ दूंगी। आपसे मिलने का इंतजार है।’’

वहीं कंगना रनोट के कोरोना संक्रमण के दिए गए सैंपल फेल हो गए। अब उनका फिर से सैंपल लिया जाएगा। उनकी बहन और पीए की कोरोना रिपोर्ट निगेटिव आई है।

अध्ययन का आरोप- कंगना मुझे पीटती थीं
अध्ययन ने डीएनए अखबार को दिए इंटरव्यू में बताया था, "एक पार्टी में कंगना ने मुझे जोर से थप्पड़ मारा तो मैं रो पड़ा। बाद में कार में मुझे पीटा। मैं वो रात कभी नहीं भूल सकता। मैंने उसे घर छोड़ा तो उसने सैंडल उतारकर मुझ पर फेंकी। मेरा फोन तक दीवार पर मारकर तोड़ दिया। कंगना ने मुझे घर बुलाकर उसके बेहतर करियर के लिए पूजा कराई और रात 12 बजे कुछ चीजें श्मशान घाट में फिंकवाईं।"

कंगना के खिलाफ राजद्रोह का केस दर्ज हो सकता है
वहीं, मंगलवार को ही शिवसेना की आईटी सेल ने कंगना रनोट के खिलाफ ठाणे के श्रीनगर पुलिस स्टेशन में शिकायत की है। आईटी सेल की मांग है कि कंगना पर राजद्रोह का केस दर्ज किया जाए, क्योंकि उन्होंने मुंबई की तुलना पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) से की थी। इस मांग पर पुलिस कानूनी राय ले रही है।

बीएमसी ने कंगना के ऑफिस में अवैध निर्माण का नोटिस चिपकाया
बीएमसी ने नोटिस चिपका कर 24 घंटे में जवाब मांगा है। कंगना ने खुद ट्वीट कर इसकी जानकारी दी। उन्होंने लिखा, "सोशल मीडिया पर मेरे दोस्तों ने बीएमसी के खिलाफ गुस्सा जाहिर किया था, इसलिए वे आज बुल्डोजर लेकर नहीं आए। लेकिन, ऑफिस में नोटिस चिपका दिया। दोस्तो मेरे लिए बहुत खतरा हो सकता है, लेकिन आपका प्यार और सपोर्ट मिल रहा है।"

कंगना के ऑफिस में इन 10 कंस्ट्रक्शन को बीएमसी ने अन-ऑथराइज बताया
1.
 ग्राउंड फ्लोर के टॉयलेट को ऑफिस का केबिन बना दिया।
2. स्टोर रूम में किचन बना दी गई।
3. स्टोर में सीढ़ियों के पास और पार्किंग एरिया में नए टॉयलेट बनाए जा रहे हैं।
4. ग्राउंड फ्लोर पर पैन्ट्री बनाई जा रही है।
5. फर्स्ट फ्लोर पर लिविंग रूम में लकड़ी का पार्टीशन कर कमरा/केबिन बनाया जा रहा है।
6. फर्स्ट फ्लोर पर पूजा वाले कमरे में पार्टीशन कर मीटिंग रूम/केबिन बनाया गया।
7. फर्स्ट फ्लोर पर खुले चौक में टॉयलेट बनाए गए।
8. सैकेंड फ्लोर पर सीढ़ियों की स्थिति बदली गई।
9. फर्स्ट फ्लोर पर सामने की तरफ हॉरिजॉन्टल तरीके से 2.बाय 6.का स्लैब बढ़ाया गया।
10. सैकेंड फ्लोर पर दीवार हटाकर बालकनी बना दी गई।

कंगना को 14 दिन के लिए क्वारैंटाइन किया जाएगा
कंगना 9 सितंबर को 'वाई' कैटेगरी की सिक्योरिटी के साथ मुंबई पहुंचेंगी। मुंबई की मेयर किशोरी पेडनेकर ने कहा है कि एक्ट्रेस को कोरोना की गाइडलाइंस फॉलो करते हुए 14 दिनों के लिए होम क्वारैंटाइन होना पड़ेगा। एयरपोर्ट पर ही उनके हाथ पर क्वारैंटाइन की मुहर लगा दी जाएगी। वे दूसरे राज्य से आ रही हैं, इसलिए उन्हें नियम मानने पड़ेंगे।

इससे पहले सूत्रों ने बताया था कि कंगना 7 दिनों के अंदर वापस जाने का टिकट दिखाती हैं तो क्वारैंटाइन से छूट भी मिल सकती है।

हरामखोर कहने पर राउत ने सफाई भी दी थी
शिवसेना नेता संजय राउत ने कंगना को हरामखोर कहा था। अब इस पर सफाई दी। उन्होंने एक टीवी चैनल से बातचीत में कहा कि अगर कोई राजनीति करना चाहता है या फिर माहौल बनाना चाहता है तो किसी भी शब्द का कोई भी मतलब निकाला जा सकता है। हमारे महाराष्ट्र में जब भी बात करते हैं तो हरामखोर का मतलब नॉटी और बेईमान बताते हैं। वह (कंगना) नॉटी गर्ल है। मैंने देखा और पढ़ा है कि वह मजाक करती हैं।


Post a comment

[blogger]

hindmata mirror

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget