Saturday, 4 July 2020

जयपुर एयरपोर्ट पर सबसे बड़ी सोने की तस्करी का भंडाफोड़, 14 अरेस्ट






  • रस अल खेमाह से आए तीन लोगों से 9.60 किलो सोना बरामद किया गया, जिसकी कीमत 4.60 करोड़
  • रियाद से आए 11 लोगों से 22.65 किलो सोना बरामद किया गया, जिसकी कीमत 11.09 करोड़
जयपुर.जयपुर एयरपोर्ट पर शुक्रवार देर शाम प्रदेश में सोने की तस्करी का सबसे बड़ा मामला सामने आया। लॉकडाउन के बाद शुक्रवार को एयरपोर्ट पर कस्टम विभाग ने दो फ्लाइट्स से 14 यात्रियों को सोने की तस्करी करते हुए पकड़ा। जिसने पास से कुल 31 किलो सोना बरामद किया गया है।
कस्टम विभाग के कमिश्नर सुभाष अग्रवाल ने बताया कि जयपुर एयरपोर्ट पर तैनात डिप्टी कमिश्नर यतीश कुमार और उनकी टीम ने देर शाम स्पाइसजेट केयूएई केरस अल खेमाहसे आएचार्टर प्लेनएसजी-9050 जयपुर पहुंची। फ्लाइट के पहुंचने के बाद एक-एक कर यात्रियों ग्रीन चैनल से सुरक्षा प्रक्रिया पूरी कर चैक आउट कर रहे थे। इस दौरान कस्टम के एयरपोर्ट पर तैनात कर्मचारियों को पहले तीन यात्रियों की गतिविधि पर शक हुआ। तीनों जल्दीबाजी में चैकिंग प्रक्रिया से निकल रहे थे। तभी उन्हें रोक लिया गया। पहले पूछताछ करने पर उन्होंने कुछ नहीं बताया। जांच करने पर उनके बैग में तीन-चार इमरजेंसी लाइट मिली। जिनका वजन सामान्य से कुछ अधिक महसूस हुआ। ऐसे में जब उनसे पूछताछ की तो उन्होंने पहले तो कुछ नहीं बताया। बाद में जब सख्ती से पूछा गया तो, उन्होंने लाइट के अंदर सोना होने की बात की। जिसकी जांच की तो प्रत्येक लाइट में बिस्किट के रूप में सोना मिला। इन 12 बिस्किट का कुल वजन 9.30 किलो था। जिसकी बाजार कीमत करीब 4.60 करोड़ रुपए है।
रियाद की फ्लाइट में भी तस्करी होने की जानकारी मिली
पूछताछ के दौरान एक तस्कर ने साउदी अरब के रियाद से आ रही फ्लाइट में भी सोना लाए जाने को बात कही। जिसके बाद कस्टम अधिकारी अलर्ट हो गए। फ्लाइट पहुंचने के बाद सभी 11 संदिग्धों से पूछताछ की और जांच की तो उनके पास 22.65 किलो सोना बरामद किया गया। जिसकी बाजार कीमत 11.09 करोड़ है। कस्टम ने बरामद किए हुए सोने को सीज कर लिया है। साथ ही 14 आरोपियों से पूछताछ की जा रही है। जल्दी ही उन्हें कोर्ट में पेश किया जाएगा। इमरजेंसी लाइट का वजन कुछ ज्यादा होने पर अधिकारियों ने सख्ती से पूछताछ की।
अग्रिम कार्रवाई सीबीआईसी करेगी
यह प्रदेश में सोने की तस्करी का सबसे बड़ा मामला है। ऐसे में इस मामले में अग्रिम कार्रवाई सेंट्रल बोर्ड ऑफ इन डायरेक्ट टैक्सेज एंड कस्टम्स (सीबीआईसी) द्वारा की जाएगी। आरोपियों से पूछताछ के बाद उन्हें कोर्ट में पेश किया जाएगा। मामला बड़ा है इसलिए सभी को जेल होना तय है। इस प्रक्रिया के बाद सीबीआईसी इस बात की जांच करेगी कि किसके कहने पर इतनी बड़ी मात्रा में तस्करी कर सोना लाया जा रहा था।
सर्राफा व्यापरियों की भूमिका पर शक
कस्टम विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि तीनों से पूछताछ जारी है। पूछताछ में उन्होंने अभी कोई खास जानकारी नहीं दी है। अनुमान लगाया जा रहा है कि तीनों आरोपी सोना बेचने के उद्देश्य से जयपुर आए थे। ऐसे में पूरे मामले में किसी सर्राफा के शामिल होने की संभावना है। जल्दी ही पूछताछ कर, तीनों को कोर्ट के समक्ष पेश किया जाएगा।
केरल में होती है सबसे अधिक तस्करी
सोने की तस्करी के लिहाज से केरल नंबर एक पर है। केरल में चार इंटरनेशनल एयरपोर्ट होने की वजह से वहां हवाई मार्ग से सबसे अधिक सोना तस्करी कर लाया जाता है। कस्टम के एक वरिष्ठ अधिकारी के अनुसार अकेले केरल में इन चारों एयरपोर्ट पर रोजाना करीब 2 किलो सोना तस्करी कर लाया जाता है। इसके बाद मुंबई, दिल्ली, बैंगलुरू, चेन्नई एयरपोर्ट पर सोना की तस्करी के सबसे अधिक मामले सामने आते हैं। पिछले दो-तीन साल से जयपुर में भी तस्करी के काफी मामले सामने आने लगे हैं।

SHARE THIS

Author:

Etiam at libero iaculis, mollis justo non, blandit augue. Vestibulum sit amet sodales est, a lacinia ex. Suspendisse vel enim sagittis, volutpat sem eget, condimentum sem.

0 coment rios: