डेटा लीक पर सबसे बड़ा खुलासा

सिर्फ 6 पैसे में बिक रहा किसी का भी मोबाइल नंबर, ई मेल और घर का पता, डेटा माफिया बेच रहे आपकी हर पर्सनल डिटेल

यह उस वेबसाइट का होम पेज है, जहां से लोग डेटा खरीदते हैं।यह उस वेबसाइट का होम पेज है, जहां से लोग डेटा खरीदते हैं।

  • जिन सूचनाओं को आप सीक्रेट समझते हैं, वह बाजार में कुछ पैसों में बिक रही हैं
  • पंद्रह दिनों तक चले स्टिंग ऑपरेशन में भास्कर ने किया काले कारनामे का पर्दाफाश
  • फर्जीवाड़े में बैंकों के फिजिकल वेरिफिकेशन वाले एजेंट, नगर पालिका, ट्रांसपोर्ट ऑफिस, बिल्डर्स सब शामिल

सूरत. पूरी दुनिया में प्राइवेसी और डेटा सिक्युरिटी बड़ा मुद्दा बना हुआ है। गूगल-फेसबुक जैसी ग्लोबल कंपनियों को इस मुद्दे पर अमेरिकी संसद में जवाब देना पड़ रहा है, लेकिन भारत में इस बेशकीमती डेटा की कीमत चंद पैसों में सिमटकर रह गई है। आपको हैरानी होगी कि सिर्फ 6 पैसे देकर किसी का भी मोबाइल नंबर, ईमेल और यहां तक कि घर का पता तक हासिल किया जा सकता है। ये जानकारी मिलने के बाद दैनिक भास्कर ने 15 दिनों तक एक स्टिंग ऑपरेशन किया। किस तरह सीक्रेट डेटा सस्ती कीमत पर बेचा जाता है पढ़िए इस रिपोर्ट में।
इस काम में सबसे ज्यादा बैंकों के फिजिकल वेरिफिकेशन वाले एजेंट शामिल हैं। नगर पालिका, ट्रांसपोर्ट ऑफिस, बिल्डर्स, मोबाइल विक्रेता और सिम देने से पहले वेरिफिकेशन करने वाले भी इस काम में लगे हुए हैं।
5000 रुपए में मिलती है 4 कार्ड की डिटेल
पड़ताल करने के लिए भास्कर की टीम ने गुजरात के कई शहरों से 550 पेज का डेटा खरीदा। यहां क्रेडिट कार्ड तक की जानकारी ली जा सकती है। बस कीमत बिटकॉइन से चुकानी होती है। J-stashbazar.com और Bigfat.cc,Cc-shop.su Cardsdumps.com वेबसाइट के पास देशभर के क्रेडिट कार्ड होल्डर की डिटेल है। ये वेबसाइट्स 70 डॉलर यानी 5000 रुपए लेकर वीजा, मास्टर कार्ड या मेस्ट्रो कार्ड के 4 ग्राहकों की डिटेल दे देती हैं।
5 पैसे में पहचान पत्र, ढाई हजार में क्रेडिट कार्ड डीटेल
बैंकिंग डिटेल्स के अलावा आधार और पैन कार्ड का डेटा भी बाजार में उपलब्ध है। ऑनलाइन ठगी करने के लिए हैकर इनका ही उपयोग करते हैं। डेटा माफिया हमेशा ई-मेल, वेब, फोन कॉल या फिर व्हाट्सऐप के जरिए डील करते हैं। 100-150 लोगों का डेटा सेंपल में दे-देते हैं। नाम, मोबाइल नंबर, पता, पहचान पत्र केवल 5 पैसे में मिल जाता है। एक क्रेडिट कार्ड के डेटा का रेट 35 डॉलर यानी ढाई हजार रुपए है। डेटा माफिया के पास लोगों की कंपनी और पद की जानकारी भी होती है।
भारत में क्या है कानून: देश में डेटा प्रोटेक्शन एक्ट के मुताबिक, कोई संस्था किसी व्यक्ति का डेटा इकट्ठा तो कर सकती है, लेकिन बिना अनुमति बेचना जुर्म है।
क्रेडिट कार्ड: पूरा अकाउंट खाली कर सकते हैं हैकर्स
खाताधारक का नामरवि
क्रेडिट कार्ड नंबर52234600048xxxxx
एक्सपायरी डेट11/22
तीन डिजिट का सीवीवी नंबर07x
मोबाइल नंबर8637421278
वीजा, मास्टरकार्ड या मेस्ट्रो कारमास्टर कार्ड
लोकेलिटीमकान नंबर 15, रसप्पा चेट्‌टी स्ट्रीट पार्क टाउन चेन्नई
ईमेल आईडीdeepakravixx@xxxx.com
(अहमदाबाद, सूरत और वडोदरा के 30 डेटा हैं भास्कर के पास)
पैन, वोटर आईडी, ड्राइविंग लाइसेंस और आधार कार्ड सब बिक रहे
आधार कार्ड का पूरा डेटा
रसिक भाई देवसी भाई राठोड़575337193516
प्रकाश भाई देवसी भाई राठोड़487431654048
पैन कार्ड डिटेल
कल्पना अरविंद भाई जैनAGUPJ9787F
प्रितेश ठाकुर भाई पटेलANUPP3134F
ड्राइविंग लाइसेंस डिटेल
विमल भाई मुकेश भाई नलवालाGJ0520100202680
मुकेश भाई वाघा भाई वेराGJ0504276703
इलेक्शन कार्ड डिटेल
स्मिताबेन होराGJ/24/171/375318
कृतिकाबेन प्रकाशभाई पटेलGJ/24/172/130277
स्टिंग में मिला विदेशी आयात डेटा, अंतरराष्ट्रीय कारोबार की बारीक जानकारियां तक मिलीं
प्रोडक्ट की जानकारीवेस्ट पेपर व्हाइट वेट स्ट्रेंथ स्क्रेप
क्वांटिटी 16.901 टन
टोटल एसेट वेल्यू 454227.9 रुपए
प्रति यूनिट वेल्यू 26875 रुपए
टोटल करेंसी वेल्यू फॉरेन करेंसी में6388.5 यूएस डॉलर
ड्यूटी कितनी भरी 22711.4 रुपए
इंपोर्टर का नाम            वृद्धि हाईजीन प्रोडक्ट्स प्रा.लि.
पता               अल्कापुरी आर्केड, वडोदरा
एक्सपोर्टर का नाम एलएलसी, टू 
जीपी हार्मन रिसाइक्लिंग, जेरिको प्लाजा, जेरिको, न्यूयॉर्क         
इनवॉइस नंबर   4.5xxx
कस्टमर पैन AAACL1837xxxxx
भारतीय पोर्ट        हजीरा बंदरगाह पर अगस्त 2018
स्टिंग में मिला विदेशी निर्यात डेटा, विरोधी कर सकते हैं गलत इस्तेमाल
प्रोडक्ट की जानकारी30 शीट्स प्रिंटेड स्क्रैप पैड
क्वांटिटी3077.86 किलोग्राम
प्रति यूनिट वेल्यू1.33 यूएस डॉलर
आईईसी891020047
भारतीय एक्सपोर्टर का नामलक्ष्मी बुक प्रा. लि.
एक्सपोर्टर का पतासुभाष चौक, गोपीपुरा, सूरत
विदेशी आयातक का नामकेमिकल बैंक
विदेशी बंदरगाहलॉस एंजिलिस
इंडियन पोर्टहजीरा
माल भेजने की तारीखफरवरी 2019

Post a comment

[blogger]

hindmata mirror

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget