कोरोना काल में मरती इंसानियत, घंटों पड़ी रही लाश लेकिन प्रशासन बना रहा मूकदर्शक


सन्नी पांडेय
नवी मुंबई-
लॉक डाउन के कारण घर मे बैठे बैठे सारी जनता परेशान हो गई है एंव लॉक डाउन खुलने का इंतजार कर रही है । उच्च दर्जे का सुविधा मुहैया करवाने का दावा करनेवाली मनपा का आये दिन कई खोखले कार्यभार दिखाई दे रहा है । हाल ही में कुछ दिन एक मुस्लिम लड़के का शव बिना देखे हिन्दू परिवार को शौपे जाने का मामला सामने आया है कि वही दूसरी तरफ बुधवार शाम को करिबन 7 बजे तुर्भे स्टोर्स में स्थित पब्लिक शौचालय में गये एक व्यक्ति की मौत हो गई । मौत होने के बाद पास में ही ब्यबस्था पर तैनात पुलिस जवान को सूचना दिया गया । सूचना मिलते ही जवान घटना स्थल पर पहुंच कर वरिष्ठ अधिकारियों को सूचना दिया उसके बाद पुलिस जवान ने कोरोना जैसे महामारी से सावधानी बरत कर वाशी स्थित मनपा अस्पताल के सीएमओ को सूचना देकर एम्बुलेंस भेजने का सूचना दिया । उसके बाद घंटो बित जाने के बाद भी कोई एम्बुलेंस नही आई । कुछ घंटों बाद पुनः जब पुलिस जवान ने सीएमओ को फोन किया तो सीएमओ ने बताया कि मनपा के कर्मचारी उनकी नही सुनते । कई घंटों मसक्कत करने के बाद 5 घंटे बाद एम्बुलेंस पहुंची । अब सवाल यह उठता है की ऐसे सिचुएशन में अगर मनपा के कर्मचारीयो द्वारा ऐसा खोखला कार्यभार सुरु रहा तो आम जनता का क्या होगा । आखिर मनपा उन कर्मचारियों को वेतन क्यों दे रही है । कई युवा बेरोजगार हो चुके है जब ऐसे कर्मचारियों द्वारा कार्य नही किया जा रहा तो उनको हटाकर इक्छुक युवाओं को रोजगार देने का लोगो द्वारा मांग किया जा रहा है ।

Post a comment

[blogger]

hindmata mirror

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget