अभिनेता रणवीर शौरी की कार जब्त, सख्त हुई पुलिस, अबतक कब्जे में लिए कई वाहन

मुंबई। मुंबई पुलिस ने बुधवार को अभिनेता रणवीर शौरी की भी कार जब्त कर ली है। हालांकि अभिनेता का दावा है कि उनकी कार से उनके यहां काम करने वाला शख्स अपनी पत्नी की प्रसूति के लिए अस्पताल जा रहा था, लेकिन कार जब्त करने वाले पुलिस अधिकारी ने कहा कि प्रसूति में उसके जाने की क्या जरूरत है। डॉक्टर और उसकी पत्नी मामला देख लेंगे। जबकि अस्पताल प्रशासन फॉर्म भरने के लिए महिला के पति को आने को कह रहा था। शौरी ने ट्वीट करते हुए मुंबई पुलिस से शिकायत की कि उन्हें भी पुलिस स्टेशन बुलाकर बिठाया गया, फिर इंस्पेक्टर विजय कदम ने कहा कि उनकी कार जब्त की जा रही है। उनके ड्राइवर के खिलाफ एफआईआर दर्ज की जा रही है।

सख्त हुई पुलिस
महानगर में कोरोना संक्रमित मरीजों की लगातार बढ़ती संख्या को देखते हुए पुलिस ने एक बार फिर लॉकडाउन का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ सख्ती बढ़ा दी। मंगलवार को लॉकडाउन के 2 महीनों में दूसरी सबसे बड़ी कार्रवाई करते हुए पुलिस ने 659 आरोपियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करते हुए उनमें 449 को गिरफ्तार कर लिया। लॉकडाउन के दौरान एक दिन में कुल आरोपियों की संख्या और गिरफ्तार आरोपियों की संख्या के मामले में दूसरी सबसे बड़ी कार्रवाई है।
इससे पहले 7 अप्रैल को 517 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया था। वहीं सबसे ज्यादा 1,164 आरोपियों के खिलाफ पहले लॉकडाउन के आखिरी दिन यानी 14 मार्च को आईपीसी की धारा 188 के तहत मामले दर्ज किए गए थे, हालांकि इनमें 238 लोगों को ही गिरफ्तार किया गया था। 17 मई तक चले लॉकडाउन के तीसरे चरण में पुलिस ने नियमों का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ थोड़ी नरमी बरती थी और कार्रवाई में काफी कमी आई थी, लेकिन कोरोना के मामले लगातार बढ़ते देख पुलिस ने एक बार फिर सख्ती बरतनी शुरू कर दी। पुलिस द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक 20 मार्च से 19 मई तक कुल 13,282 आरोपियों के खिलाफ धारा 188 के तहत एफआईआर दर्ज की जा चुकी है। इनमें 7,939 आरोपियों को गिरफ्तार किया जा चुका है, जबकि 1,858 फरार है। 3,485 आरोपियों को पुलिस ने नोटिस देकर छोड़ दिया।

करीब ढाई हजार वाहन जब्त
यातायात विभाग ने भी बिना वजह घर से निजी वाहनों से निकलने वालों के खिलाफ कार्रवाई तेज कर दी है। मंगलवार को पुलिस ने 2438 गाड़ियां जब्त की। इनमें 873 निजी कारें, 230 टैक्सी और 1,335 ऑटो रिक्शा थे। पुलिस का कहना है कि लोग जरूरी सामान खरीदने का बहाना बना घर से निकलते हैं, लेकिन घरेलू सामान की खरीदारी के लिए भी वाहनों के इस्तेमाल पर पाबंदी है। लोगों को पैदल जाकर ही सामान लाने के आदेश हैं।

Post a comment

[blogger]

hindmata mirror

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget