Monday, 25 May 2020

भारत में कोरोना विस्फोट...भारत दुनिया के 10 सर्वाधिक संक्रमित देशों में शामिल





  • देशभर में सोमवार को 6,977 नए मामले सामने आए हैं और 154 लोगों की मौत हुई
  • भारत में पॉजिटिव मामलों की कुल संख्या 1,44,118 हो गई है, जिनमें 1,44,118 सक्रिय मामले हैं
  • देशभर में अब तक 1,44,118 लोग ठीक हो चुके हैं और अब तक 4,117 लोगों की हो चुकी है मौत
  • सबसे अधिक संक्रमण महाराष्ट्र में लेकिन मृत्यु दर पश्चिम बंगाल में सबसे अधिक



नई दिल्ली- 25 मई की सुबह, देश की नींद खुली तो आंखों के सामने साक्षात भय खड़ा था। कोरोना संक्रमण के 24 घंटों में नए मामलों ने नई ऊंचाई छू ली थी और हम अब वहीं खड़े दिख रहे थे – जहां 1 महीने पहले इटली, स्पेन और फ्रांस खड़े थे। 1 लाख कोरोना संक्रमण का आंकड़ा पहले ही पार कर चुके देश के लिए स्थिति हर रोज़ और चिंता जनक होती जा रही थी। भारत दुनिया के 10 उन देशों में शामिल हो गया है, जहां कोरोना का संक्रमण सबसे ज़्यादा है। कोरोना संक्रमण में अमेरिका शीर्ष पर है, जहां अब तक 16,86,436 लोग संक्रमित हुए हैं। इसके बाद ब्राजील में 3,65,213, रूस में 3,44,481, स्पेन में 2,82,852, ब्रिटेन में 2,59,559, इटली में 2,29,858, फ़्रांस में 1,82,584, जर्मनी में 1,80,328, तुर्की में 1,56,827 इतने लोग संक्रमित हैं।
भारत में बीते 24 घंटों में रिकॉर्ड 6,977 नए मामले सामने आने के साथ कोरोना वायरस से संक्रमित होने वालों का आंकड़ा 1,44,118 हो चुका है जबकि 1,44,118 लोगों की मौत हो चुकी है। संक्रमित लोगों में से 1,44,118 एक्टिव केस हैं जबकि 1,44,118 लोग ठीक हो चुके हैं। कुल संक्रमित मामलों में से 74 फ़ीसदी मामले मई में सामने आए हैं। मतलब साफ है कि ये मई में स्थिति भयानक होने जा रही है। पिछले कुछ दिन के आंकड़े तो यही कहते हैं। 19 मई को कोरोना संक्रमण के 4970 मामले आए। 20 मई को 5611, 21 मई को 5609, 22 मई को 6088, 23 मई को 6,654, 24 मई को 6767, 25 मई को 6,977 मामले सामने आए हैं।
उक्त आंकड़ों से साफ है कि सरकार के सारे दावों, लॉकडाउन के दो महीनों और दुनिया भर को दवाएं निर्यात कर लेने की घोषणाओं के बावजूद, भारत में कोरोना संक्रमण के मामलों का बढ़ते जाना थम नहीं रहा। इन आंकड़ों के साथ ही भारत दुनिया में सर्वाधिक कोरोना प्रभावित देशों की सूची में पहले 10 स्थान में पहुंच गया है, जो कि बेहद चिंताजनक बात है। क्योंकि दरअसल ये वो देश हैं, जो कम्युनिटी ट्रांसफर की स्टेज भी पार कर गए हैं। यानी कि इन देशों में या तो स्थिति सुधार की ओर 1 महीने पहले ही जा चुकी है या फिर यहां कोरोना संक्रमण अब अनियंत्रित हो चुका है। दरअसल भारत में कोरोना संक्रमण के कर्व को देखें, तो इस दावे को बल मिलता है कि हम भयावह स्थिति की ओर बढ़ते जा रहे हैं। हमारा कोरोना कर्व लगभग वैसा ही है, जैसा 1 महीने पहले सर्वाधिक कोरोना प्रभावित देशों का था। अब तक 24 घंटों में कोरोना मामलों में सर्वाधिक बढ़त के साथ, सरकार का वो दावा भी धज्जियां होकर बिखर गया है, जिसमें 16 मई तक कोरोना संक्रमण पर काबू पा लेने की बात कही थी।

SHARE THIS

Author:

Etiam at libero iaculis, mollis justo non, blandit augue. Vestibulum sit amet sodales est, a lacinia ex. Suspendisse vel enim sagittis, volutpat sem eget, condimentum sem.

0 coment rios: