शर्मनाक! पुलिस ने दो लाख के फल पकड़े, जनता में बटवाने की बजाए नष्ट करवा दिए


  • समाजसेवियों ने कहा- प्रवासी मजदूरों,गरीबों और मरीज़ों में बँटवा देना चाहिए था, ऐसा करना अन्याय है 
  • इस प्रकरण मेंं तीन पकड़े गए, तीन आरोपी भागे


राजेंद्र गुप्ता 
इंदौर-  इंदौर के पास महू के गोकुलगंज में डॉक्टर हरी अग्रवाल के पास, फल के गोडाऊन पर पुलिस ने छापा मारा कर, लगभग दो लाख रुपए के केले, नारियल पानी, आम आदि फल जप्त किए। तीन आरोपी व्यक्ति भाग गए, तीन को गिरफ़्तार किया है। जप्त फलों की स्थिति बहुत ही अच्छी है किन्तु इनको नष्ट किया जा रहा है, जबकि इन फलों को इंदौर बायपास से गुज़र रहे प्रवासी मज़दूरों को या गरीबों में बँटवा देना चाहिए था। 
महू थाना प्रभारी अभय नेमा से जानकारी माँगी, पर वो नही दे पाए, सोशल मीडिया पर चल रही ख़बरों के अनुसार आधा फल नष्ट किया है और आधा फल पुलिस कंटोमेंट और जूँ में भेजे जाने की चर्चा है । हालाँकि महू एसडीएम प्रतुल कुमार सिन्हा के अनुसार जप्त पूरा फल नष्ट किया गया है ।
महू के समाजसेवी सनी बिलरवान, इंदौर के समाजसेवी, एक्टिविस्ट और एडवोकेट नीरज सोनी, सुनील वर्मा, डॉ.आनंद रॉय, डॉ.आनंद राजे, भुवन तोषनीवाल, रविंद्र गुप्ता, परमजीतसिंह मुंदड़ा, जितेन्द्र मिंडा, पं.रामगोपाल शर्मा, सात्विक गुप्ता ने कहा लॉकडाउन में फलों को नष्ट करना शर्मनाक और गलत है, इंदौर की सीमा से गुजर रहे प्रवासी मजदूरों को, गरीबों को या अस्पतालों में मरीजों को फल वितरित कर देना थे।

Post a comment

[blogger]

hindmata mirror

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget