उल्हासनगर कैम्प 3 के क्रिटिकेअर अस्पताल की ग़ैर जिम्मेदाराना हरकत



उल्हासनगर. अस्पताल में आने वाले मरीजो की जांच करने के बाद उससे संबंधित किसी भी वस्तु को दुबारा इस्तेमाल करना तथा सार्वजनिक क्षेत्र में उसको फेंकने पर पूरी तरह पाबंदी है. लेकिन स्थानीय कैम्प नंबर 3 स्थित क्रिटिकेअर नामक एक निजी अस्पताल द्वारा पीपीई किट इस्तेमाल कर उसको सड़क पर फेंकने का मामला सामने आने पर स्थानीय मनपा प्रशासन ने अस्पताल प्रबंधन से 2 हजार जुर्माना वसूल किया व भविष्य में ऐसा न करने की नसीहत दी. कोरोना की महामारी शुरू होने के बाद अस्पताल प्रबंधन द्वारा इस तरह की की गई गलती को लेकर की शिकायत समाजसेवी ने की.

जानकारी के मुताबिक मंगलवार की सुबह अस्पताल के समीप ही रास्ते पर इस्तेमाल की हुई पीपीई किट एक जागरूक नागरिक संदेश मुकणे को दिखाई दी. संदेश मुकणे ने स्वयं यह फोटो लिया व उन्होंने स्थानीय वरिष्ठ पत्रकार दिलीप मालवणकर के साथ मिलकर मनपा में शिकायत की. उसके बाद मनपा के मुख्य स्वच्छ्ता निरीक्षक एकनाथ पवार ने खुद उस शिकायत की गंभीरता को देखते हुए स्पॉट विजिट की व उसके बाद अस्पताल प्रबंधन पर 2 हजार दंड लगाया.

Post a comment

[blogger]

hindmata mirror

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget