महाराष्ट्र की राशनिंग दुकानों में आवश्यक वस्तुओं का अकाल


मुंबई के सभी राशनिंग दुकान में सिर्फ गेंहू ही उपलब्ध, नहीं है अनाज, पामतेल, शक्कर और दाल 

मुंबई- कोरोना को लेकर लॉकडाउन के दौरान रोजी-रोजगार बंद हो जाने से गरीबों और मजदूर तबका के लोगों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। महाराष्ट्र सरकार ने सभी राशनकार्ड धारियों के साथ ही बिना राशन कार्ड वाले परिवारों के लिए भी राशन-पानी का इंतजाम का दावा किया है, लेकिन धरातल पर मामला पूरी तरह उलटा है। मुंबई,ठाणे, कल्याण, उल्हासनगर सहित पूरे महाराष्ट्र में लोगों को राशन नहीं मिल रहा है। मुंबई के सभी राशनिंग दुकान में सिर्फ गेंहू ही उपलब्ध हैं। अनाज, पामतेल, शक्कर और दाल तो है ही नहीं। यह दावा आरटीआई कार्यकर्ता अनिल गलगली ने की है और सरकार को राशनिंग दुकानों की दयनीय स्थिति से अवगत कराया है।
बकौल गलगली, इससे आम नागरिक परेशान हैं। अधिकारी निजी वार्तालाप में बता रहे हैं कि अन्न धान्य उठानेवाली यंत्रणा नहीं होने से सरकारी अधिकारी हतप्रभ हैं। अनिल गलगली ने मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और अन्न व नागरी आपूर्ति मंत्री छगन भुजबल से मांग की हैं कि राशनिंग दुकान में जीवन आवश्यक वस्तुओं की किल्लत हैं उसे दूर करें और आम लोगों को जीवन-आवश्यक वस्तुओं का वितरण करे।
सिर्फ मुंबई में ही स्थिति विकट नहीं है बल्कि उससे सटे इलाकों की भी यही स्थिति है। हिंदमाता मिरर की डिजिटल टीम एचएम न्यूज़ दो दिन पहले ही उल्हासनगर में कैसे लोगों को राशन नहीं मिल पा रहा, उसका खुलासा किया था। इसका वीडियो नीचे देखा जा सकता है।



Post a comment

[blogger]

hindmata mirror

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget