वज्रेश्वरी मंदिर में डकैती डालनेवाली टोली गिरफ्तार


ठाणे(दिनेश वर्मा ): ठाणे ग्रामीण पुलिस ने भिवंडी तालुका में स्थित वज्रेश्वरी देवस्थान में डकैती डालने वाले पांच लोगों की एक टोली को गिरफ्तार किया है।१० मई २०१९ को रात में ३.१० के दरम्यान पांच अज्ञात युवक मंदिर के पीछे की दिशा से मंदिर में घुसे और सुरक्षा गार्ड का हाथ -पैर तार से बांधकर वज्रेश्वरी मंदिर का दानपात्र तोड़कर ७,१०,००० रुपए चुरा कर ले गए थे।इस घटना से इलाके में आक्रोश का माहौल बन गया था। इस मंदिर में पहले भी तीन बार चोरी हो चुकी थी,इस मंदिर में बार-बार चोरी की घटना होने से मंदिर के ट्रस्टियों और पुलिस के खिलाफ लोगों में गुस्से का वातावरण बन गया था। 

              लाखों भक्तों की श्रद्धास्थान और कुलदेवी होने के कारण इस मंदिर की दैनिक आय ५० से ६० हजार रुपए है। यहां निकट ही गणेशपुरी में गर्म पानी का कुंड स्रोत होने के कारण हजारों लोग इस पूजा स्थल पर जाते हैं और अपनी इच्छा के अनुसार दानपेटी में पैसे डालते हैं, इस दानपेटी पर चोरों की नजर हमेशा रहती है। इस खराब और बदतर सुरक्षा व्यवस्था के कारण, इस मंदिर में चार बार चोरी हो चुकी हैं। इन सब घटनाओं के लिए इस मंदिर के ट्रस्टियों की लापरवाही जिम्मेदार है। इसके पूर्व ट्रस्टियों में से भूतपूर्व अध्यक्ष मनोज प्रधान पर ३ लाख रुपए के घपले का भी आरोप लगा था।

                        ठाणे ग्रामीण पुलिस अधीक्षक शिवाजी राठौड़ ने अपराध का खुलासा करने के लिए एक विशेष दस्ते की नियुक्ति की थी, स्थानीय अपराध शाखा के अधिकारी वेंकटेश आंधळे व स्थानीय पुलिस अधिकारी परशुराम लोंडे की टीम इस दस्ते में शामिल थी। इस दस्ते ने अपराध स्थल के सीसीटीवी फुटेज, तकनीकी विश्लेषण और संवाददाता द्वारा दी गई जानकारी के आधार पर एक समानांतर जांच कर रहे थे। इसी जांच के आधार पर १८ मई २०१९ को पुलिस ने १) गोविंद सोमा गिंभल , गांव दाभलोन तालुका जव्हार, ग्राम पालघर २) विनीत सुरजी चिमडा, गांव गरेलपाड़ा, पोस्ट अघई तालुका शाहपुर जिला ठाणे ३), भारत लक्ष्मण वाघ , भुईशेत, पोस्ट अघई तालुका, शाहपुर जिला, ठाणे ४) जगदीश काशीनाथ नावतरे , अघई तालुका शाहपुर जिला ठाणे ५) प्रवीण काशीनाथ नावतरे, गांव गरेलपाड़ा, शाहपुर जिले के अघई तालुका , इन सभी आरोपियों को दादरा नगर हवेली जव्हार और शाहपुर से गिरफ्तार किया गया, इस घटना में फरार चल रहे तीन आरोपियों को भी जल्द से जल्द गिरफ्तार किया जाएगा।

                          मंदिर में डकैती डालने से पहले, आरोपियों ने वज्रेश्वरी मंदिर की रेकी की थी। हाल ही में मंदिर की यात्रा के कारण, दान में बहुत सारे पैसे जमा किए गए थे, जिसके कारण उन्होंने १० मई को मोटरसाइकिल और कार का उपयोग से चोरी करने की योजना बनाई ।आरोपियों ने वज्रेश्वरी मंदिर के पीछे के पहाड़ी क्षेत्र से मंदिर परिसर में प्रवेश किया और मंदिर के सुरक्षा गार्ड का हाथ-पैर बांधकर स्क्रू ड्राइवर और लोहे के औजार की सहायता से मंदिर के लकड़ी के दरवाजे को तोड़कर मंदिर में प्रवेश किया उसके बाद मंदिर में रखे दानपात्र को तोड़कर मोटरसाइकिल और कार पर पूरे पैसे को बोरियों में भरकर वहां से निकल गए।उन्होंने सोचा, इतनी राशि कैसे ले जाएंगे? इसलिए मंदिर के पीछे स्थित जंगल में उन्होंने कुछ राशि रखी छुपाकर रख दी थी,जिसे वे तीन दिनों के बाद लेकर गए थे।इन पांच अभियुक्तों की गिरफ्तारी में इनसे २,८३,०३६ रुपए की चोरी की गई नकदी और अपराध में इस्तेमाल की गई दो मोटरसाइकिलों को पकड़कर कुल ३,८३,०३६ रुपए का माल जब्त किया गया है। इसमें शामिल आरोपियों को पहले भी चोरी, लूट, डकैती के प्रयास और अन्य गंभीर अपराधों के लिए गिरफ्तार किया गया था। इस मामले में गोविंद मुख्य आरोपी है, उसने अपराध की पूरी योजना तैयार की थी, अभी तीन आरोपी फरार हैं, उनके मिलने के बाद बाकी रकम के मिलने की संभावना है । गिरफ्तार अभियुक्तों को २७ मई तक पुलिस कस्टडी में रखने का आदेश मिला है। 


साथ ही मंदिर के ट्रस्टियों को अक्सर होनेवाली चोरियों को रोकने के लिए सुरक्षा गार्डों को बढ़ाने का आदेश दिया गया है और पुलिस का भी एक विशेष गार्ड मंदिर की सुरक्षा में तैनात रहेगा,ऐसा पुलिस अधीक्षक डॉ.शिवाजी राठौड़ ने कहा है।

Post a comment

[blogger]

hindmata mirror

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget