Saturday, 27 April 2019

सपा-बसपा‌ गठबंधन चुनाव जीतने नहीं कांग्रेस को हराने के लिए!


सपा वोट कटवा पार्टी , सपा‌ का‌ भिवंडी शहर से होगा सफाया - भिवंडीकर 

भिवंडी( खान फखरे आलम):भिवंडी लोक सभा सीट पर सभी पार्टी के उम्मीदवारों का प्रचार आज खत्म हुआ । वही पर समाजवादी पार्टी तथा बसपा गठबंधन उम्मीदवार डाँं नुरुद्धीन अंसारी वोट कटवा की भुमिका निभाते हुए चुनावी किस्ती में सवार है। शहर के मतदाताओं ने समाजवादी पार्टी तथा बसपा गठबंधन उम्मीदवार को गद्दार तथा वोट कटवा नाम की‌ उपाधि दे चुकी है। लोक सभा चुनाव के बाद इसका पिटारा भी बंद करने का मन बना चुकी है। 
  सपा ने  मुस्लिम मतदाताओं के वोट कटवा तथा गद्दार पुर्व कांग्रेसी नेता के नाम से पहचाने जाने वाले डाँं नुरुद्धीन अंसारी को मैदान में उतारा है। तथा इस खेमे का रिमोट कंट्रोल भिवंडी सपा अध्यक्ष अरफात शेख ने अपने पास रखा हुआ है। बता दे कि वही अरफात शेख है जो २००९ के लोक सभा चुनाव में सपा से उम्मीदवारी कर रहे स्वां आर आर पाटिल का पैसा लेकर आजमगढ़ भाग गये थे । जो काफी दिनों बाद भिवंडी वापस आकर अपना डेरा बसाया था। इस बात की चर्चा शहर में आज भी होती है। 
सपा बसपा उम्मीदवार डाँं नुरुद्धीन अंसारी का‌ राजनीति जीवन समाप्त हो चुका है। भिवंडी महानगरपालिका चुनाव हार चुके हैं। परन्तु दोगली राजनीति का कीड़ा काटने के कारण कांग्रेस पार्टी से पुरानी दुश्मनी भुलाई  नहीं जा रही है । शहर में ऐसी चर्चाओं का बाजार गर्म है। 
सुत्रो द्वारा प्राप्त जानकारी के अनुसार सपा भिवंडी शहर अध्यक्ष अरफात शेख ने लोक सभा उम्मीदवार खोजने के लिए नामांकन पुर्व कांग्रेस पार्टी के संभावित उम्मीदवारों के यहाँ समाजवादी पार्टी का खाली टोकरी लेकर खड़े रहते थे। वही पर हर संभावित उम्मीदवारों के धन बल का लेखा जेखा करने के गणित लगाने तथा महाराष्ट्र प्रदेश मुखिया को जानकारी देने का कार्य कर रहे थे। किन्तु इनके बहकावे में कोई संभावित उम्मीदवार फंसने को तैयार नहीं हुआ। परन्तु चुनाव में आमदनी डुबती देख अरफात शेख ने भिवंडी के मुस्लिम मतदाताओं का वोट कटवा का खेल खेला। जिसका निशाना फीट बैठ गया। 

शहर के जागरुक नागरिक का मानना‌ है‌ समाजवादी पार्टी अल्पसंख्यक समाज को‌ बदनाम करने की कोशिश कर रहा है। वही पर समाजवादी पार्टी चुनाव जीतने नहीं भाजपा को‌ चुनाव जिताने के चुनावी मैदान में है।शहर की जनता समाजवादी पार्टी के कार्य शैली को समझ गई‌ है। आने वाले विधानसभा चुनाव तथा महानगर पालिका चुनाव में सबक‌ सिखाने के शहर जनता ने मुड बना लिया है।

SHARE THIS

Author:

Etiam at libero iaculis, mollis justo non, blandit augue. Vestibulum sit amet sodales est, a lacinia ex. Suspendisse vel enim sagittis, volutpat sem eget, condimentum sem.

1 comment:

  1. Yeh muslim voters ko bewakoof samjhte hai kya. Yeh sirf logo ka vote kharab karke BJP ki madad kar rahe hai. Inko kaho agar dum hai to hindu vote sorf 100 lakar dekha de....

    ReplyDelete