हत्यारिन पत्नी प्रेमी के साथ गिरफ्तार

कासारवडवली पुलिस ने सीसीटीवी की मदद से सुलझाई हत्या की गुत्थी

ठाणे (दिनेश वर्मा) : ठाणे पुलिस ने चार दिन पहले हुई युवक की हत्या की गुत्थी सुलझाते हुए मृतक की पत्नी को उसके प्रेमी के साथ गिरफ्तार किया है| पकड़े गए प्रिया नाईक और महेश कराले को पुलिस की हिरासत में रखा गया है| प्रिया और महेश के अवैध संबंध के बीच मृतक गोपाल उर्फ गोपी आड़े आ रहा था इसलिए उसकी हत्या कर दी गई| घटना की विशेष बात यह है कि पत्नी और प्रेमी ने मिलकर गोपी की हत्या घर में कर दी थी और फिर उसको सड़क दुर्घटना बताकर शव को स्कूटी से सिविल अस्पताल में पहुंचाया था और उसके बाद दोनों फरार हो गए थे लेकिन घर के करीब तथा अस्पताल में लगे सीसीटीवी कैमरे में प्रिया नाईक और महेश कराले की करतूत कैद हो गई थी और उसी के जरिए पुलिस उन दोनों तक पहुंची| 
ठाणे म्युनिसिपल कार्पोरेशन में कार्यरत गोपी अपनी पत्नी प्रिया के साथ ठाणे के घोड़बंदर रोड के गायमुख स्थित मनपा की श्रमसाफल्य इमारत में रहता था| दंपति को सात साल की बेटी है| सेंट्रल रेलवे में नौकरी करने वाले महेश कराले के साथ प्रिया की फेसबुक द्वारा पहचान हुई थी और लगभग ६ महीने से वीडियो कॉलिंग द्वारा रोज बातचीत होती थी| कुछ ही दिनों में प्रिया और महेश के शारीरिक संबंध भी हो गए| जब इस बात का पता पति गोपी नाईक को चला तो दोनो में बच्ची के सामने झगड़े होने लगे थे| गोपी को प्रेम में आड़े आते देख प्रिया और महेश ने उसे रास्ते से हटाने की योजना बनाई,२८ दिसंबर की देर रात काम से लौटने पर पत्नी प्रिया ने बड़े प्रेम से पति गोपी को बियर पिलाई लेकिन उसे क्या पता था कि उसी बीयर में प्रिया और महेश ने मिलकर लगभग ३० नींद की गोलियां मिलाई है| बीयर पीते ही गोपी नींद के नशे में चला गया और प्रिया ने महेश के साथ मिलकर उसके पहले सर पर वार किया और बाद में गला घोंटकर मार डाला|
गोपी की मौत के बाद पत्नी प्रिया और उसके प्रेमी महेश शव को सिविल अस्पताल लेकर गए जहां डॉक्टर को सड़क दुर्घटना बताकर उसकी जांच कराई| डॉक्टर द्वारा गोपी को मृत घोषित करने के बाद वे दोनो फरार हो गए थे| इस घटना की जानकारी जब पुलिस को मिली तो उन्होंने जांच शुरु की| उन्हें गोपी के घर के बेडरूम और बालकनी में लगाए टाईल्स, फर्श तथा इमारत के नीचे पार्क स्कूटी पर खून के धब्बे मिले थे|
इमारत परिसर में लगे सीसीटीवी कैमरे की जांच की गई तो उसमें तड़के करीब पौने चार बजे स्कूटी पर शव को रख ले जाते प्रिया और महेश दिखाई दिए और शव को अस्पताल में ठिकाने लगाने के बाद वापस पौने छः बजे स्कूटी ला कर भीतर पार्क करते दिखाई दिए| अस्पताल के सीसीटीवी में भी दोनों आरोपी साफ दिख रहे हैं|
पुलिस ने इसके बाद मामला दर्ज किया था और दोनों की तलाश शुरू की थी| दोनों की धरपकड़ के लिए पुलिस की अलग-अलग टीम लगी थी| पुलिस ने दोनों को मंगलवार को आख़िरकार पकड़ लिया| कोर्ट ने दोनों को ७ जनवरी तक पुलिस हिरासत में रखने का आदेश दिया है|

Post a comment

[blogger]

hindmata mirror

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget