एक और साइबर फर्जीवाड़ा,२ जालसाज हुए गिरफ्तार


ठाणे(दिनेश कुमार वर्मा ):ठाणे में एक और फर्जी कॉल सेंटर का पर्दाफाश ठाणे पुलिस ने किया| लोगों को कर्ज दिलाने का प्रलोभन देकर कर्ज मंजूर करने के नाम पर इंटरनेट द्वारा तंत्राने प्रोसेसिंग फी वसूल करते थे, लेकिन कर्ज नहीं दिलाते थे| ऐसी सूचना ठाणे शहर परिमंडल ५ के पुलिस उपायुक्त सुनिल लोखंडे ने कासरवडवली पुलिस स्टेशन के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक डी.एस.ढोले को दी| ढोले ने पुलिस निरीक्षक पी.एन.उगले और सहायक पुलिस निरीक्षक एस.बी.पाटील और व अपनी टीम के साथ कार्रवाई करके २ जालसाजों को गिरफतार किया है| गिरफतार आरोपियों के नाम राकेश कोडवाणी (२१) रा. गोकुळनगर, गुजरात और जोरावत राजपूत (२८) रा.राजस्थान हैं| न्यायालय ने दोनों आरोपियों को सात दिन के पुलिस रिमांड पर भेजा है| पुलिस का कहना है कि घोड़बंदर रोड पर एक इमारत में कॉल सेंटर खोलकर दोनों ने ६०० अमेरिकन नागरिकों को चूना लगाया| इस बारे में जानकारी देते हुए पुलिस उपायुक्त सुनील लोखंडे ने बताया कि जालसाजी का शिकार होनेवालों का आंकड़ा इससे भी अगे जा सकता है|
पुलिस का कहना है कि आनंद नगर स्थित उन्नतिवुड्स इमारत के फेज -५ के चौथे मंजिल पर फलैट किराया लेकर आरोपी फर्जी कॉल सेंटर चला रहा था| सोमवार की रात पुलिस उस स्थान पर छापेमारी की| फलैट से राकेश कोडवाणी व जोरावत राजपूत इंटरनेट कॉलिंग के माध्यम से अमेरिकन नागरिकों को प्रलोभन देकर उसे चूना लगा रहा था| कर्ज दिलाने की लालच देकर आरोपी प्रोसेसिंग फी के रूप में रकम डॉलर में लेता था| लेकिन किसी को कर्ज नहीं मिलता था|
आरोपियों के पास से चार मोाईल, दो लेपटॉप के साथ ही अन्य सामग्रियां रामद की गई हैं| बरामद सामानों की कीमत एक लाख दस हजार बताई गई है| पुलिस का कहना है कि कोडवानी बारहवीं है| जकि राजपूत कंप्यूटर अभियंता है| दोनों अच्छी अंग्रेजी बोल लेता है| उक्त कार्रवाई पुलिस आयुक्त परमवीर सिंह, सह पुलिस आयुक्त मधुकर पांडेय, अपर पुलिस आयुक्त पश्चिम प्रादेशिक विभाग सत्य नारायण, पुलिस उप आयुक्त परिमंडल-५ सुनील लोखंडे, सहायक पुलिस आयुक्त महादेव भोर के मार्गदर्शन में की गई थी|

Post a comment

[blogger]

hindmata mirror

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget