Saturday, 18 November 2017

BMS पेपर लीक मामले में 10 गिरफ्तार


मुंबई। यूनिवर्सिटी पेपर लीक मामले में पुलिस ने 10 लोगों को गिरफ्तार किया है। पकड़े गए लोगों में छह विद्यार्थी भी हैं। इसके अलावा यूनिवर्सिटी के परीक्षा विभाग से भी कुछ लोगों को भी गिरफ्तार किया गया है। जांच का हवाला देते हुए पुलिस मामले में ज्यादा खुलासा करने से बच रही है। डीसीपी परमजीत सिंह दहिया ने बताया कि आरोपियों से पूछताछ की जा रही है।

Whatsapp पर मिला था पेपर
गुरूवार को बैचलर ऑफ मैनेजमेंट स्टडीज (बीएमएस) का पेपर एक विद्यार्थी के Whatsapp पर मिला था। अंधेरी इलाके के एक कॉलेज से मार्केटिंग-ईकॉमर्स एंड डिजिटल मार्केटिंग का पेपर लीक होने की जानकारी मिली। इसके बाद यूनिवर्सिटी की टीम ने कॉलेज पहुंचकर मामले की जानकारी ली और गुरूवार रात अंबोली पुलिस में एफआईआर दर्ज कराई गई। जांच में पता चला है कि इससे पहले भी कुछ पेपर लीक किए गए हैं। 

Whatsapp पर भेजे जाते थे प्रश्न पत्र
परीक्षा शुरू होने के करीब आधे घंटे पहले विद्यार्थियों को प्रश्नपत्र Whatsapp पर भेजे जाते थे। मुंबई यूनिवर्सिटी के अधिकारियों के मुताबिक कॉलेजों में परीक्षा के दो घंटे पहले पेपर भेजे जाते हैं। जिसे डाउनलोड कर उसका प्रिंट आउट निकाला जाता है। इसके लिए सुरक्षित डिजिटल इग्जाम पेपर डिलिवरी सिस्टम बनाया गया है। प्रश्नपत्र पर वॉटरमार्क होता है। इसलिए पेपर कहां से लीक हुआ इसकी पहचान कर ली जाएगी।

Lorem ipsum is simply dummy text of the printing and typesetting industry.