१२ वर्षीय बच्ची ने फांसी लगाकर की आत्महत्या

       परिवारवालों ने शिक्षक पर लगाया मारपीट का आरोप 

डोंबिवली
:- १२ वर्षीय छात्रा ने खुद के घर में फांसी का फंदा लगाकर आत्महत्या करने का मामला प्रकाश में आया है| आत्महत्या से पहले छात्रा ने एक पत्र लिखा था, जिसपर लिखा था कि मुझे जिंदा नहीं रहना है| जबकि उसके घरवालों का कहना है कि स्कूल में कम अंक आने के कारण उसके शिक्षक ने उसे डाटा और मारा था, जिससे वह मानसिक तनाव में थी| इस घटना से संस्कृतिक व शैक्षणिक नगरी में खलबली मच गई है|
डोंबिवली पूर्व के गोग्रास वाड़ी स्थित गोपाल नगर-२ के ओम दत्त अपार्टमेंट में रहने वाली मुस्कान सिंह मंजूनाथ स्कूल की कक्षा ७ में पढ़ती थी| गुरुवार की शाम उसने अपने पिता विजय सिंह, मां अंजना, बड़ी बहन, दादा जी और बुआ ऐसी खुशहाल परिवार में रहती थी| मुस्कान की बड़ी बहन ११वीं में पढ़ती है| मुस्कान जब मंजूनाथ स्कूल से शाम को घर आई तो उसने कमर दर्द होने की बात कही| उस समय बहन ने बाम लगाकर कमर की मालिश की| शाम को इमारत में पानी आने पर मां अंजना, बड़ी बहन पानी भरने गए| दोनों पानी भरने में व्यस्त और घर के बाकी लोग हॉल में अपने काम में व्यस्त थे| अंदर के कमरे में मुस्कान अकेली थी और उसने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली| उसके शव के पास से पुलिस को एक सुसाइड नोट बरामद हुआ जिसमें लिखा था कि वह जीना नहीं चाहती है, इसलिए आत्महत्या कर रही है| परंतु इस मामले में उसके परिजनों का कहना है कि स्कूल में हिंदी विषय में उसके नंबर कम आए थे, जिस कारण उसकी शिक्षक ने उसे डांट फटकार लगाई थी और मारा था| इसी मानसिक तनाव के चलते मुस्कान ने आत्महत्या कर ली| फिलहाल पुलिस ने उसके परिजनों की शिकायत के आधार पर मामला दर्ज कर छानबीन शुरु कर दी है| मुस्कान को छमाही परीक्षा में हिंदी विषय में कम अंक मिले जिससे टीचर ने उसे डांटा और मारा था ऐसा मुस्कान के परिवार ने कहा है| इसलिए मुस्कान मानसिक तनाव में थी| उसके शरीर पर निशान भी थे| वही इस संदर्भ में स्कूल प्रशासन से संपर्क करने का प्रयास किया गया और उन्होंने इस विषय में कुछ भी बोलने से मना कर दिया और पुलिस भी इस मामले की लेपापोती करने में लगी है| वही जब पुलिस से सीसीटीवी फुटेज की मांग की गई तो उन्होंने कहा कि हमने सीसीटीवी जांच ली है और उस में ऐसा कोई भी सुराग नहीं मिला है|

Post a comment

[blogger]

hindmata mirror

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget