Thursday, 23 November 2017

आयुक्त पर लगे ऍट्रोसिटी मामले का किया गया विरोध


ठाणे: उल्हासनगर महानगर पालिका आयुक्त राजेंद्र निंबालकर के ऊपर गैरकानुनी काम कराने के लिए दबाव बनाने के उद्धेश्य से उन पर ऍट्रोसिटी ऍक्ट के अंतर्गत मामला दर्ज कराया गया है| इसी के विरोध में गुरुवार को मराठा क्रांती मोर्चा की तरफ से जिलाधिकारी कार्यालय के बाहर विरोध प्रदर्शन किया गया| इस दौरान एक प्रतिनधि मंडल ठाणे जिलाधिकारी कार्यालय में जाकर उप जिला चुनाव अधिकारी फरोग मुकादम के पास अपना निवेदन दिया और कानून के दायरे में रहकर उचित और योग्य सहयोग करने की मांग की| इस प्रकरण में एक कार्यक्षम आईएएस अधिकारी जो शहर के विकास के लिए हर संभव प्रयास कर रहे है, जिसके कारण अपना स्वार्थ सिद्ध करने में असमर्थ हो रहे मंडली ने उनपर रोक लगाने के लिए न्यायालय को गलत जानकारी देकर ऍट्रोसिटी का मामला दर्ज कराया है, ऐसा आरोप मावला संघटना की अध्यक्ष रुपाली पाटील ने लगाया है|
मराठा क्रांती मोर्चा के समनव्यक ऍड. संतोष सुर्यराव ने कहा कि समाज, राजनीती के साथ प्रशासकिय सेवा में भी मराठा जैसे ही जाति के अधिकारी है| उनके द्वारा गैरकानुनी काम कराने के लिए ऍट्रोसिटी कानुन के नाम पर ब्लॅकमेलिंग हो रही है| आयुक्त निंबालकर को न्याय दिलाने के लिए अगर जरूरत पड़ी तो मराठा क्रांती मोर्चा के पदाधिकारी मंत्रालय पर भी पहुंचेंगे|
इस मोर्चे में रमेश आंग्रे, जयंत जगताप, भाग्यश्री शिंदे, दत्ता घुले, तेजेंद्र पोटे, श्याम आव्हारे, प्रवीण पिसाट, संतोष सूर्यराव, संतोष शृंगार, पराग मुंबरकर, नंदकिशोर शिंदे, उल्का करपे आदि मान्यवर उपस्थित थे|

Lorem ipsum is simply dummy text of the printing and typesetting industry.