Wednesday, 13 September 2017

भाजपा विधायक ही उड़ा रहा हैं पीएम के स्वच्छ भारत अभियान की धज्जियां


    'बिल्डर पर मेहरबान होकर विधायक ने लगाया शौचालय पर ताला'
      हजारों नागरिकों को अभी तक नहीं मिली शौचालय की सुविधा

मुंबई(अकबर शाह ): भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी स्वच्छ भारत अभियान के तहत पूरे भारत में शौचालय बनाने की मुहिम चला रहे हैं, जिसके चलते कुछ दिन पहले ही १०३ वर्षीय महिला द्वारा अपनी बकरी बेचकर शौचालय बनाने पर नरेंद्र मोदी ने उनका पैर छू लिया| लेकिन दुखद घटना यह है कि भारतीय जनता पार्टी के बड़े नेता और कांदिवली पूर्व से विधायक अतुल भातखलकर लोगों को शौचालय के लिए तरसा रहे हैं| विधायक भातखलकर के खिलाफ स्थानीय जनता में रोष देखा जा सकता है| मोदी गांव-गांव में शौचालय बनाने के लिए जोर दे रहे हैं वहीं भारत की आर्थिक राजधानी मुंबई में लोग शौचालय की तकलीफों से परेशान हैं|
उल्लेखनीय है कि मलाड पूर्व के मकरानीपाड़ा में वार्ड क्रमांक-४५ में वहां के लोग शौचालय की कमी झेल रहे हैं| बता दे कि लगभग नौ हजार की जनसंख्या वाले मकरानीपाड़ा में शौचालय में ताला लगा है| स्थानीय जनता का कहना है कि एमएलए अतुल भातखलकर लगभग डेढ़ सालों से हमारे शौचालय के पास शौचालय दुरूस्ती का पोस्टर लगा रखा है पर हकीकत यह है कि वे अब तक शौचालय निर्माण नहीं करा सके हैं और न ही दुरुस्ती का काम संपन्न हो पाया है|  शौचालय पर  ज़बरन ताला लगाकर रखा गया है|

विधायक को नवकार बिल्डर का साथ?

लोगों की परेशानी का हल निकालने की बजाय दिक्कतें और बढ़ती जा रही हैं| स्थानीय जनता जिस शौचालय का इस्तेमाल करती थी, उस शौचालय को भी तोड़े जाने की योजना बनाई गई है| नवकार बिल्डर की बनी बिल्डिंग के लिए आने-जाने की जगह के लिए प्राइवेट जमीन पर बने शौचालय को अवैध तरीके से तोड़ने की तैयारी किए जाने की जानकारी मिली है| जिस जमीन पर यह शौचालय बना है वह देवचंद जेठालाल शाह की है| भुक्तभोगी जनता का आरोप है कि बीएमसी की मिलीभगत से विधायक अतुल भातखलकर बिल्डर को फायदा पहुंचाने का प्रयास कर रहे हैं|

स्थानीय बीजेपी के कार्यकर्ता अहमद मंसूरी ने बतया कि इस पूरी परेशानी को देखते हुए नगरसेवक डॉ. राम बरोट तथा नवनिर्वाचित भाजपा जिलाध्यक्ष विनोद शेलार ने आश्वासन दिया है कि उस शौचालय को हम नहीं तोड़ने देंगे, इसके लिए सांसद गोपाल शेट्टी से बात करेंगे|

SHARE THIS

Author:

Etiam at libero iaculis, mollis justo non, blandit augue. Vestibulum sit amet sodales est, a lacinia ex. Suspendisse vel enim sagittis, volutpat sem eget, condimentum sem.

0 coment rios: