नशेड़ियों और जुआरियों का अड्डा बना श्मशानभूमि


डोंबिवली (मिथिलेश गुप्ता)- कल्याण -डोंबिवली महानगरपालिका भविष्य की होने वाली स्मार्ट सिटी है और इसी शहर में कुछ ऐसी जगह भी है, जो स्मार्ट सिटी पर काला धब्बा है, ठाकुर्ली चोलेेगांव में पालिका की श्मशानभूमि   में दिन में दारू पार्टी और जुआ खेलने का प्रकरण सामने आया है|
श्मशानभूमि   में दारू की खाली बोतलों की भंडार है, पत्ते (तास), मृत जानवर, शराबी और चरसी लोगों का आना-जाना देखकर मौत के बाद भी मृतक की आत्मा को शर्म आती होगी, ऐसे शरीर में कांटे चुभने वाली भयानक तस्वीर यहां दिखाई दे रही है| यहां के परिसर में देशी दारू बड़े पैमाने पर बेचा जाता है| जिससे ग्राहक इस श्मशानभूमि  में ही बैठकर बिंदास दारू पार्टी करते हैं| बड़ी बात यह है कि पालिका का कोई भी सुरक्षा रक्षक यहां नहीं रहता है, कहीं  देशी दारू बेचने वालों का पालिका से आर्थिक संबंध तो नहीं, ऐसे अनेक सवाल निर्माण हुये है|
खंबालपाड़ा में रास्तें पर ही लाशें जलायी जाती है ,ऐसा भीषण सत्य कुछ दिन पहले ही उजागर हुआ था| लाखों रुपये खर्च करके चोलेेगांव  में श्मशानभूमि बनाई गई है, लेकिन इस जगह चलने वाले अवैध धंधों का खुलासा न हो इसके लिये अनेक समय अंत्यविधी करने के लिये कुछ स्थानिक नागरिकों की तरफ से विरोध किया जाता है, ऐसा आरोप कुछ नागरिकों ने किया है| स्थानिक नागरिकों के दहशत के कारण नागरिक इस पर बोलने से डरते हैं| इस जगह पालिका का सुरक्षारक्षक न होने से इस जगह अंत्यविधी होते समय डेथ सर्टीफिकट व बाकी चीज़ों की जांच भी नहीं किया जाता होगा, इस जगह ऐसे अनुचित प्रकार होन की आशंका है|
श्मशान मुक्ती मिलने की जगह है , मात्र चालेेगांव के श्मशानभूमि में लाशें रास्ते पर रखी जाती हैं , लेकिन चिता वाली जगह पर दारू की बोतलें व दारू के गिलास मिलते हैं| पत्ते (तास), सिगरेट के पैकेट, मृत जानवर, शराबी, चरसी और चारों तरफ अस्वच्छता का साम्राज्य देखकर स्मार्ट सिटी व सांस्कृतिक नगरी का ढोल बजाने वाले जरा इस तरफ भी ध्यान दो ,वरना मौत के बाद भी लोगां कीे आत्मा संतुष्ट नहीं होगी| अंत्यविधी करते समय यहंा कोई भी नियम का पालन नहीं किया जाता है |इस जगह पालिका का सुरक्षारक्षक न होने की बात पालिका अधिकारी को बार बार बताया गया है | प्रशासन ने दुर्लक्ष किया, ऐसा स्पष्टीकरण भाजपा के स्थानिक नगरसेविका के पति तथा पूर्व नगरसेवक श्रीकर चौधरी ने दिया|


Post a comment

[blogger]

hindmata mirror

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget