अब आपकी पुरानी नोट घूमकर आएगी आपके ही पास, RBI ने किया ऐसा काम



नई दिल्ली: नोटबंदी के बाद पुराने 1000-500 के नोटों का अब कोई मोल नहीं रहा। जिनके पास है भी तो वह उसे कहीं न कहीं गलाने का प्रयास कर रहे हैं। लेकिन RBI ने पुराने 500 नोटों को गलाने का रास्ता निकाल लिया है। आपको बता दें कि आरबीआई 500 के नोटों को 250 रुपए टन में बेच रही है। आरबीआई ने पुराने नोटों को खरीदने के लिए कई कंपनियों से इस पर बोली लगाई थी। केरला की एक प्लाईवुड कंपनी ने इस पर बोली लगाकर जीत हासिल की है। आईबीआई द्वारा एक सत्यापन कर कंपनी को 1000-500 के नोटों का इस्तेमाल करने के लिए सम्मानित भी किया गया। यह पहली कंपनी है जिसने पुराने नोटों का उपयोग लकड़ी में किया तथा कार्डबोर्ड औऱ प्लाईवुड जैसी चीजे बनाने का काम किया है।
जितने पुराने नोट अब तक बैंको में जमा किये जा चुके हैं। उनका वेरिफिकेशन करके उन्हें पैक कर सीधा आरबीआई के पास भेज दिया जाता है। उसके बाद आईबीआई इन नोटों के बंडल को चंडीगढ़ सेंटर में वेरिफिकेशन करने के लिए भेज देता है। वेरिफिकेशन के बाद इन नोटों को कतरन और ब्रिकेटिंग जैसी प्रक्रिया के लिए आगे की ओर ट्रांसफर कर दिया जाता है। यहां पर सबसे पहले नोटों को कतरने वाली मशीन में डालकर दबाया जाता है औऱ फिर उन्हें अलग-अलग आकार दिया जाता है।
इसके बाद विक्रेता इसे अस फैक्टरी में भेज देते हैं जहां पर इसका गूदा केमिकल में इस्तेमाल किया जाता है। तब इसके गूदा का इस्तेमाल कई जगहों पर किया जाता है। जैसे कि कार्डबोर्ड बनाना, प्लाईवुड बनाना, स्टेशनरी का सामान, स्मृति चिन्ह, अंडे का ट्रे और ब्राऊन पेपर इत्यादी। तो किसी न किसी तरह से आपकी पुरानी नोट घूमकर आपके पास ही आ जाएगी।

Post a comment

[blogger]

hindmata mirror

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget