शिल्पा ने दिया ऐसा सुझाव,ट्विटर पर उड़ने लगा मजाक

यूं तो बॉलीवुड सितारे ट्विटर के जरिए अपने फैन्स से लगातार जुड़े रहते हैं। मगर कभी-कभी यह दिक्कत भी खड़ी कर देता है। ऐसा ही एक मामला हुआ एक्ट्रेस शिल्पा शेट्टी के साथ। हाल ही में उन्होंने बच्चों के स्कूल सिलेबस से जुड़े एक मामले पर एक अखबार के साथ अपने विचार साझा किए थे। मगर इसके बाद ही मुसीबत खड़ी हो गई। दरअसल शिल्पा शेट्टी ने जॉर्ज ओरवेल की प्रसिद्ध किताब 'एनिमल फार्म' के बारे में कोई कमेंट किया था। इसके बाद से ही ट्विटर पर उनका मजाक उड़ने लगा।
अखबार को शिल्पा ने कहा 'एनिमल फार्म जैसी किताब बच्चों को जानवरों से प्यार करना और उनका ख्याल रखना सिखा सकती है। इस किताब को स्कूलों में पढ़ाया जाना चाहिए।' आपको बता दें कि अंग्रेजी साहित्य जगत में जॉर्ज ओरवेल का बड़ा नाम है। उनकी किताब 'एनमिल फॉर्म' में राजनैतिक व्यवस्था पर व्यंग्य किया गया है। इस किताब की गिनती चुनिंदा किताबों में होती है।
इस किताब में जानवरों को किरदार बनाकर एक कहानी रची गई है। इसमें दर्शाया गया है कि सत्ता में बने रहने के लिए सत्ताधारी लोग अपने साथियों को भी रास्ते से हटाने में नहीं चूकते हैं। यह कहानी आज भी प्रासंगिक है। राजनैतिक उठापठक को व्यंग्य के दृष्टिकोण से दिखाती है।
'एनिमल फॉर्म' में छिपे राजनीतिक व्यंग्य को नहीं समझ पाने के कारण शिल्पा शेट्टी का ट्विटर पर मजाक उड़ाया जा रहा है। शिल्पा का कहना था 'मैं मानती हूं कि 'लॉर्ड ऑफ द रिंग्स' और 'हैरी पोटर' जैसी किताबों को सिलेबस में शामिल करने से बच्चों की रचनात्मकता और भी बेहतर ढंग से विकसित हो सकेगी। यदि 'एनिमल फार्म' को भी इसमें शामिल किया जाता है तो बच्चे जानवरों से प्यार और उनकी देखभाल का तरीका भी सीख सकेंगे।' इस बात से परेशानी खड़ी हो गई।
ट्विटर यूजर्स ने लिखा 'बच्चों को वुल्फ ऑफ वॉल स्ट्रीट भी देखना चाहिए। इसमें दिखाया जाता है कि वुल्फ कैसे मेहनत करते हैं। आगे जाकर स्टॉकब्रोकर बन जाते हैं।' एक यूजर ने लिखा 'इस हिसाब से तो स्टेपमॉम का बेहतर सीक्वल 'द ममी रिटर्न्स हो सकता है।' यही नहीं एक यूजर ने लिखा ' फिफ्टी शेड्स ऑफ ग्रे एक शानदार कलरबुक है। बच्चों को यह जरूर पसंद आएगी।'

Post a comment

[blogger]

hindmata mirror

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget