500-1000 के नोट बैन: सोमवार तक एटीएम जाना बैड आइडिया


हरेश सोनारिया, मुंबई


मोदी सरकार की तरफ से 500 और 1000 रुपये के पुराने नोट बैन करने के बाद शुक्रवार को एटीएम पर भारी भीड़ देखने को मिली। यह भीड़ आने वाले दिनों में भी दिखेगी क्योंकि लोगों को नए नोट निकालने हैं। कई जगहों से खबर मिली कि एटीएम में नए नोट खत्म हो गए। लोगों को समस्या हुई।
फिलहाल ऐसी कुछ परिस्थितियां हैं जिनसे सोमवार ही नहीं आने वाले 7 से 8 दिनों तक एटीएम से पैसे निकालने में आपको परेशानी हो सकती है। ऐसे में अगर आप सोमवार तक कैश मैनेज कर सकें तो सलाह यही है कि एटीएम का रुख न ही करें। दरअसल बैंकों के लिए भी एटीएम को रीफिल करना अभी मुश्किल का काम है। इसकी वजह एटीएम का अंदरूनी ढांचा है। एक एटीएम में कैश रखने के लिए केवल 3-4 कसेट्स होते हैं। इन्हें कसेट्स को खास नोटों के डिस्पेंस के हिसाब से तैयार किया जाता है।अबतक ये कसेट्स 100, 500 और 1000 रुपये के नोट देने के हिसाब से कन्फिगर किए गए थे। अब 500, 1000 रुपये के नोट बैन हो जाने के बाद इन्हें 50, 100, 500 और 2000 रुपये की करंसी देने के हिसाब से तैयार करना है। अभी 50 और 2000 रुपये के नोटों के हिसाब से सभी एटीएम को कन्फिगर नहीं किया जा सका है।

कैश मैनेजमेंट कंपनी लॉजिकैश सलूशंस प्राइवेट लिमिटेड के सीईओ विपिन जैन के मुताबिक, 'एटीएम में कैश लोड करने की अपनी चुनौतियां हैं। एक एटीएम में 4 कसेट्स होते हैं। पूरे भारत में एटीएम को नई व्यवस्था के हिसाब से फिक्स करने में कम से कम 7 से 8 दिन लगेंगे।'

उनके मुताबिक अभी लोगों की सोच यह है कि अगर उन्हें 2000 रुपये की भी जरूरत है, तो वह 10,000 रुपये तक निकालेंगे। ऐसी स्थिति में एटीएम जल्द खाली होंगे। बैंकों पर यह एक अतिरिक्त प्रेशर के तौर पर है। इसके अलावा बैंकों को बैड कंरसी और गुड करंसी का लेखाजोखा भी रखना है। इस वजह से चुनौती और बड़ी है

Post a comment

[blogger]

hindmata mirror

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget