महिला ने 40 पेज में बयां किया था दर्द, एक न्यूड फोटो से शुरू हुई थी कहानी

नीमच की अर्चना शर्मा सुसाइड मामले में घटना के 22 दिन बाद आरोपी आकाश बैस पकड़ा गया। आकाश के पास अर्चना की आपत्तिजनक फोटो था, जिसके कारण वह उसे ब्लैकमेल कर रहा था।

इसी के बाद अर्चना ने 4 नवंबर को घर में फांसी लगा ली थी। अर्चना ने 40 पेज के सुसाइड नोट में मौत के लिए आकाश बैस को जिम्मेदार ठहराते हुए अपना दर्द बयां किया था। पढ़ें, 40 पेज की डायरी...

वह मां को परेशान करता था- बेटा
अर्चना के बड़े बेटे दक्ष का कहना है आकाश मेरी मां को दिनभर परेशान करता था। आखिर, मेरी मां ने उसका क्या बिगाड़ा था जो उसने ऐसा किया। मां की बहुत याद आ रही है। आकाश के कारण ही मां हम लोगों को छोड़कर दुनिया से चली गई। उसने मेरे छोटे भाई को भी मारा था। उसे तो फांसी ही होनी चाहिए।
आकाश को मेरे हवाले कर दो- पति
अर्चना के पति मनोज शर्मा का कहना है कि दो साल से कैसे जी रहा हूं यह मैं ही जानता हूं। मैं रोज मरता हूं और रोज जीता हूं। बच्चे बिना मां के हो गए। उन्हें लेकर बहुत परेशान हूं। आकाश ने मेरी पत्नी के साथ बहुत गलत किया। मेरी पत्नी को इंसाफ नहीं मिला। आज वो हमसे दूर हो गई। पुलिस अगर उसे कड़ी सजा नहीं दिलवा सकती है तो उसे मेरे हवाले कर दे।

मेरी बेटी मुझे बता देती तो मैं उसे बचा लेता- पिता
अर्चना के पिता शरदकुमार दुबे का कहना है मेरी बेटी बिना गलती की शिकार हुई है। उसकी गलती होती तो मैं इसको हजम कर लेता। अर्चना बहुत मेहनती थी। वह रात-रात तक कपड़े सिलती रहती थी। आकाश ने गलत किया। मेरी बच्ची मुझे मामला बता देती तो मैं उसे बचा लेता।

आकाश दिन में घर आकर करता था परेशान- सास
सास गायत्री बाई कहती हैं मैं रात में सो नहीं पा रही हूं। बच्चों के चेहरे देखने की हिम्मत नहीं होती। उनके सिर से मां का साया उठ गया। आकाश ने मेरा घर उजाड़ दिया। वह दिन में घर आ जाता था और परेशान करता था। पहले न्याय मिल जाता तो आज मेरी बहू मेरे साथ हाेती। उसने हारकर फांसी लगा ली।

सुसाइड नोट में काफी गंभीर आरोप हैं, उसी आधार पर दर्ज किया केस
एएसपी राकेश सगर ने बताया सुसाइड नोट में काफी गंभीर आरोप लगाए गए हैं। उसके आधार पर ही अाकाश के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। उसकी गिरफ्तारी के लिए लगातार दबिश दी जा रही थी। शुक्रवार को वह कहीं जाने की तैयारी कर रहा था तभी उसे बस स्टैंड से गिरफ्तार कर लिया गया। 

Post a comment

[blogger]

hindmata mirror

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget