नोटबंदी का गुरुवार को नौवां दिन है। इकोनॉमिक अफेयर्स सेक्रेटरी शक्तिकांत दास 3 बड़े एलान किए- 'खाद-बीज के लिए किसान हर हफ्ते 25 हजार रुपए निकाल सकते हैं। शादी के लिए ढाई लाख तक निकाल सकते हैं। पैसे निकालते वक्त शादी का कार्ड दिखाना होगा। बैंक से अब 2 हजार रुपए के पुराने नोट ही बदले जा सकेंगे।' बता दें कि अभी तक बैंक से 4500 रुपए पुराने नोट बदले जा रहे थे। सरकार के बुधवार को नए एलान... # आर्थिक मामलों के सेक्रेटरी शक्तिकांत दास ने कहा, 'खेती हमारी इकोनॉमी का प्रमुख हिस्सा है। इस बार बारिश अच्छी हुई है, इसका एग्रीकल्चर पर अच्छा असर पड़ेगा।' # 'सरकार ने फसल बीमा प्रीमियम की सीमा को 15 दिन बढ़ाने का फैसला लिया है। खाद-बीज के लिए किसान हर हफ्ते 25 हजार रुपए निकाल सकते हैं।' # 'जिनके यहां शादी है, वे ढाई लाख रु. तक निकाल सकते हैं। पैसे निकालते वक्त शादी का कार्ड दिखाना होगा। ये पैसा माता या पिता में से कोई निकाल सकता है।' # '18 नवंबर से 2 हजार के पुराने नोट ही बदले जाएंगे। अभी 4500 के पुराने बदले जा रहे हैं।' # 'ग्रुप सी तक के गवर्नमेंट इम्प्लॉइज 10 हजार तक की सैलरी एडवान्स में निकाल सकेंगे। ये उनकी नवंबर की सैलरी में एडजस्ट हो जाएगा।' # 'सभी एटीएम को अपडेट करने के लिए टास्क फोर्स एक रोडमैप तैयार करेगा। उम्मीद है कि काम जल्दी पूरा कर लिया जाएगा।' नोटबंदी के बाद मंगलवार को मंगलवार को सरकार के एलान की 7 बड़ी बातें... 1# वोटिंग की तरह पैसा बदलवाने पर लगेगी इंक - इकोनॉमिक अफेयर्स सेक्रेटरी शक्तिकांत दास ने कहा, ''कुछ लोग एक ही ग्रुप/लोगों को पैसा जमा करने के लिए बार-बार बैंक भेज रहे हैं। इससे लंबी लाइन लग जा रही है।'' - ''इस कारण फैसला लिया गया है। इसके बारे में बैंकों को ऑपरेशनल इंस्ट्रक्शन भेज दिए गए हैं। कुछ लोगों ने बार-बार पैसा जमा कराने का धंधा बना रखा है।'' 2# इस सवाल का सीधा जवाब टाल गए सेक्रेटरी - सरकार ने सोमवार को एक हाई लेवल मीटिंग के बाद फैसला लिया था कि 500/1000 के पुराने नोट अब प्राइवेट फार्मेसी स्टोर्स पर भी चलेंगे। - हालांकि, मंगलवार को जब इकोनॉमिक अफेयर्स सेक्रेटरी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस किया तो वे इस सवाल का जवाब टाल गए कि आखिर क्यों कुछ प्राइवेट हॉस्पिटल और मेडिकल स्टोर 500-1000 के पुराने नोट नहीं ले रहे हैं। - जब मीडियाकर्मियों ने उनसे जोर देकर सवाल किया तो उन्होंने कहा कि सरकारी हॉस्पिटलों में पुराने नोट इस्तेमाल करने की फैसिलिटी अवेलेबल है। अगर कुछ सरकारी हॉस्पिटल या फार्मेसी स्टोर ये फैसिलिटी नहीं दे रहे हैं और उनके स्पेसिफिक मामले सामने आएंगे तो हम कार्रवाई करेंगे। - इस जवाब में उन्होंने प्राइवेट हॉस्पिटल और प्राइवेट मेडिकल स्टोर्स का जिक्र नहीं किया। 3# मंदिर से जमा होने वाले पैसे पर नजर - दास ने कहा, ''देश के मंदिरों और ट्रस्टों से जमा होने वाले पैसे पर नजर रखी जा रही है।'' - ''साथ ही, मंदिरों और जहां दान का पैसा मिलता है, उनसे कहा गया है कि छुट्टे पैसे बैंकों में जमा कराएं। इससे सिस्टम में लिक्विडिटी आएगी।'' 4# जनधन खातों पर नजर - सरकार जनधन खातों पर नजर रखे हुए है, ताकि इसमें कालाधन न जमा हो जाए। - दास ने कहा, ''जनधन खाताधारकों से अपील है कि वे अपने अकाउंट का गलत इस्तेमाल करने से बचें।'' - ''जनधन में एक बार में डिपॉजिट लिमिट 50 हजार है। कई खातों में अभी तक 49 हजार रुपए जमा हो चुके हैं। ऐसे खातों पर हमारी नजर है।'' 5# शादी में शगुन के लिए चेक दें - शादी जैसे प्रोग्राम में कैश की कमी के सवाल पर सरकार का कहना है कि शगुन चेक में दें। वहीं, इंडिविजुअल्स एक हफ्ते में 24 हजार रुपए निकाल सकते हैं। कारोबारियों के लिए विदड्रॉल लिमिट 50 हजार रुपए रखी गई है। - बता दें कि इस वक्त शादियों का मौसम है, जिसके कारण कई परिवारों को कैश न होने की तकलीफ उठानी पड़ रही है। 6# जरूरी सेवाओं के लिए 24 नवंबर तक लिए जाएं पुराने नोट, नहीं तो होगी कार्रवाई - दास ने कहा, ''अगर कोई सरकारी हॉस्पिटल या फॉर्मेसी 500-1000 के पुराने नोट नहीं लेता है (24 नवंबर तक), तो उस पर कार्रवाई की जाएगी।'' - ''पहले की घोषणा के मुताबिक, पुराने नोट 24 नवंबर तक चलेंगे।'' 7# नए नोटों का कलर निकलने पर - सोशल मीडिया में ऐसी खबरें हैं कि 2000 के नए नोट का रंग निकल रहा है। इस पर सरकार ने कहा कि पुराने नोट में भी रंग निकलता था। - दास ने कहा, ''हम जिस स्याही का इस्तेमाल करते हैं, उसे आप थोड़ा कॉटन से रगड़ेंगे तो नोट से कलर निकलेगा। अगर ऐसा नहीं होता है तो वह करंसी फेक हो सकती है।'' इंक लगाए जाने पर कांग्रेस ने उठाए सवाल - इस बीच, कांग्रेस ने निशान लगाए जाने के फैसले पर भी सवाल उठाया। - मंगलवार को कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, ''नाखून पर इंक लगाने जा रहे हैं, इसका कानून के साथ ताल्लुक नहीं है।'' - ''मैं अपने पैसे क्यों नहीं एक्सचेंज कर सकता हूं? कैसे आप रोक सकते हैं?''


नोटबंदी का गुरुवार को नौवां दिन है। इकोनॉमिक अफेयर्स सेक्रेटरी शक्तिकांत दास 3 बड़े एलान किए- 'खाद-बीज के लिए किसान हर हफ्ते 25 हजार रुपए निकाल सकते हैं। शादी के लिए ढाई लाख तक निकाल सकते हैं। पैसे निकालते वक्त शादी का कार्ड दिखाना होगा। बैंक से अब 2 हजार रुपए के पुराने नोट ही बदले जा सकेंगे।' बता दें कि अभी तक बैंक से 4500 रुपए पुराने नोट बदले जा रहे थे।  सरकार के बुधवार को नए एलान...

# आर्थिक मामलों के सेक्रेटरी शक्तिकांत दास ने कहा,  'खेती हमारी इकोनॉमी का प्रमुख हिस्सा है। इस बार बारिश अच्छी हुई है, इसका एग्रीकल्चर पर अच्छा असर पड़ेगा।'
# 'सरकार ने फसल बीमा प्रीमियम की सीमा को 15 दिन बढ़ाने का फैसला लिया है। खाद-बीज के लिए किसान हर हफ्ते 25 हजार रुपए निकाल सकते हैं।'
# 'जिनके यहां शादी है, वे ढाई लाख रु. तक निकाल सकते हैं। पैसे निकालते वक्त शादी का कार्ड दिखाना होगा। ये पैसा माता या पिता में से कोई निकाल सकता है।'
# '18 नवंबर से 2 हजार के पुराने नोट ही बदले जाएंगे। अभी 4500 के पुराने बदले जा रहे हैं।'
# 'ग्रुप सी तक के गवर्नमेंट इम्प्लॉइज 10 हजार तक की सैलरी एडवान्स में निकाल सकेंगे। ये उनकी नवंबर की सैलरी में एडजस्ट हो जाएगा।'
# 'सभी एटीएम को अपडेट करने के लिए टास्क फोर्स एक रोडमैप तैयार करेगा। उम्मीद है कि काम जल्दी पूरा कर लिया जाएगा।'

नोटबंदी के बाद मंगलवार को मंगलवार को सरकार के एलान की 7 बड़ी बातें...

1# वोटिंग की तरह पैसा बदलवाने पर लगेगी इंक
- इकोनॉमिक अफेयर्स सेक्रेटरी शक्तिकांत दास ने कहा, ''कुछ लोग एक ही ग्रुप/लोगों को पैसा जमा करने के लिए बार-बार बैंक भेज रहे हैं। इससे लंबी लाइन लग जा रही है।''
- ''इस कारण फैसला लिया गया है। इसके बारे में बैंकों को ऑपरेशनल इंस्ट्रक्शन भेज दिए गए हैं। कुछ लोगों ने बार-बार पैसा जमा कराने का धंधा बना रखा है।''

2# इस सवाल का सीधा जवाब टाल गए सेक्रेटरी
- सरकार ने सोमवार को एक हाई लेवल मीटिंग के बाद फैसला लिया था कि 500/1000 के पुराने नोट अब प्राइवेट फार्मेसी स्टोर्स पर भी चलेंगे।
- हालांकि, मंगलवार को जब इकोनॉमिक अफेयर्स सेक्रेटरी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस किया तो वे इस सवाल का जवाब टाल गए कि आखिर क्यों कुछ प्राइवेट हॉस्पिटल और मेडिकल स्टोर 500-1000 के पुराने नोट नहीं ले रहे हैं।
- जब मीडियाकर्मियों ने उनसे जोर देकर सवाल किया तो उन्होंने कहा कि सरकारी हॉस्पिटलों में पुराने नोट इस्तेमाल करने की फैसिलिटी अवेलेबल है। अगर कुछ सरकारी हॉस्पिटल या फार्मेसी स्टोर ये फैसिलिटी नहीं दे रहे हैं और उनके स्पेसिफिक मामले सामने आएंगे तो हम कार्रवाई करेंगे।
- इस जवाब में उन्होंने प्राइवेट हॉस्पिटल और प्राइवेट मेडिकल स्टोर्स का जिक्र नहीं किया।

3# मंदिर से जमा होने वाले पैसे पर नजर
- दास ने कहा, ''देश के मंदिरों और ट्रस्टों से जमा होने वाले पैसे पर नजर रखी जा रही है।''
- ''साथ ही, मंदिरों और जहां दान का पैसा मिलता है, उनसे कहा गया है कि छुट्टे पैसे बैंकों में जमा कराएं। इससे सिस्टम में लिक्विडिटी आएगी।''

4# जनधन खातों पर नजर
- सरकार जनधन खातों पर नजर रखे हुए है, ताकि इसमें कालाधन न जमा हो जाए।
- दास ने कहा, ''जनधन खाताधारकों से अपील है कि वे अपने अकाउंट का गलत इस्तेमाल करने से बचें।''
- ''जनधन में एक बार में डिपॉजिट लिमिट 50 हजार है। कई खातों में अभी तक 49 हजार रुपए जमा हो चुके हैं। ऐसे खातों पर हमारी नजर है।''

5# शादी में शगुन के लिए चेक दें
- शादी जैसे प्रोग्राम में कैश की कमी के सवाल पर सरकार का कहना है कि शगुन चेक में दें। वहीं, इंडिविजुअल्स एक हफ्ते में 24 हजार रुपए निकाल सकते हैं। कारोबारियों के लिए विदड्रॉल लिमिट 50 हजार रुपए रखी गई है।
- बता दें कि इस वक्त शादियों का मौसम है, जिसके कारण कई परिवारों को कैश न होने की तकलीफ उठानी पड़ रही है।

6# जरूरी सेवाओं के लिए 24 नवंबर तक लिए जाएं पुराने नोट, नहीं तो होगी कार्रवाई
- दास ने कहा, ''अगर कोई सरकारी हॉस्पिटल या फॉर्मेसी 500-1000 के पुराने नोट नहीं लेता है (24 नवंबर तक), तो उस पर कार्रवाई की जाएगी।''
- ''पहले की घोषणा के मुताबिक, पुराने नोट 24 नवंबर तक चलेंगे।''

7# नए नोटों का कलर निकलने पर
- सोशल मीडिया में ऐसी खबरें हैं कि 2000 के नए नोट का रंग निकल रहा है। इस पर सरकार ने कहा कि पुराने नोट में भी रंग निकलता था।
- दास ने कहा, ''हम जिस स्याही का इस्तेमाल करते हैं, उसे आप थोड़ा कॉटन से रगड़ेंगे तो नोट से कलर निकलेगा। अगर ऐसा नहीं होता है तो वह करंसी फेक हो सकती है।''

इंक लगाए जाने पर कांग्रेस ने उठाए सवाल
- इस बीच, कांग्रेस ने निशान लगाए जाने के फैसले पर भी सवाल उठाया।
- मंगलवार को कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा, ''नाखून पर इंक लगाने जा रहे हैं, इसका कानून के साथ ताल्लुक नहीं है।''
- ''मैं अपने पैसे क्यों नहीं एक्सचेंज कर सकता हूं? कैसे आप रोक सकते हैं?''

Post a Comment

[blogger]

hindmata mirror

Contact Form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget