Latest Post


काशी में पीएम मोदी ने कहा कि आज हम रिफॉर्म्स की बात रते हैं, लेकिन समाज और व्यवस्था में रिफॉर्म्स के बहुत बड़े प्रतीक तो स्वयं गुरु नानक देव जी ही थे. हमने ये भी देखा है कि जब समाज, राष्ट्रहित में बदलाव होते हैं तो जाने-अनजाने विरोध के स्वर जरूर उठते हैं.




कल्याण पूर्व के पिसवली गांव की घटना

सी वी निर्मल

कल्याण:कल्याण के पिसवली गांव में रहने वाले एक उत्तर भारतीय परिवार के लोगों की आंख में मिर्ची पाउडर डालकर उनकी जमकर  पिटाई करने का मामला सामने आया है।इस मामले में पीड़ित महिला की शिकायत पर मानपाड़ा पुलिस थाने में निशांत उर्फ बाबा दिलीप सालवे,किरण किशोर निकालजे,किशोर निकालजे और गोविंदा खंडागले ऐसे 4 लोगों पर मारपीट सहित महिला से छेड़खानी का केस दर्ज किया है।पीड़िता ने पुलिस में शिकायत की है कि रविवार की शाम 9 बजे के लगभग आरोपियों ने घर में जबरन घुसकर घर के सदस्यों की आंखों में मिर्ची का पाउडर फेका और लाठी डंडे से घर वालों की पिटाई करदी।इस बीच शिकायतकर्ता महिला का आरोप है कि आरोपी निशांत उर्फ बाबा सालवे ने उसके साथ बदसलूकी भी की।इस मारपीट में पीड़ित परिवार के 4 लोग घायल हुए है।मानपाड़ा पुलिस ने गुनाह दर्ज करने के बाद 30 तारीख की सुबह 3 बजे के आसपास आरोपी निशांत उर्फ बाबा तथा गोविंदा को गिरफ्तार कर लिया है।जबकि अन्य 2 आरोपी फरार बताए जा रहे हैं।

लोकल ट्रेन में युवती से छेड़छाड़ के 2 आरोपी गिरफ्तार

कल्याण. कल्याण जीआरपी पुलिस स्टेशन की हद में एक चौंकाने वाली घटना सामने आई है, जिसमें एक युवती के साथ छेड़छाड़ कर चलती लोकल ट्रेन से फेंकने का प्रयास किया गया. यह घटना मध्य रेलवे के आटगांव से कसारा रेलवे स्टेशन पर घटी. कल्याण पुलिस ने इस सिलसिले में 2 आरोपियों  को गिरफ्तार किया है. गिरफ्तार आरोपियों की पहचान अमोल जाधव और अमन हिल के रूप में हुई है.


पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार, कसारा में रहने वाली 21 वर्षीय युवती ठाणे के एक मॉल में एक बड़े पद पर कार्यरत है. पीड़ित कसारा से ठाणे तक प्रतिदिन यात्रा करती है. हमेशा की तरह वह 25 नवंबर को ठाणे से एक महिला ट्रेन में सवार हुई, उस समय उक्त डिब्बे में कई महिलाएं थीं.

हालांकि ट्रेन आटगांव स्टेशन तक खाली थी और वह उक्त डिब्बे में अकेली रह गई. ट्रेन के आटगांव स्टेशन से निकलने के बाद दो युवक दौड़ती हुई ट्रेन में सवार हो गए. दोनों नशे में थे. उक्त दोनों के हावभाव देखकर युवती हैरान हो गई. उसने तुरंत दोनों के फोटो अपने मोबाइल पर ले लिए और उसने तुरंत उक्त दोनों की तस्वीरें मैसेज के साथ अपने रिश्तेदारों को भेज दी.

इसी बीच दोनों ने लड़की से छेड़छाड़ शुरू कर दी. युवती अंत तक विरोध कर रही थी, हाथापाई के दौरान उसे चलती ट्रेन से बाहर फेंकने की कोशिश की गई, तब तक ट्रेन कसारा स्टेशन पहुंच चुकी थी. उसी क्षण एक युवक वहां से मौका पाकर भाग गया  और दूसरे आरोपी को लड़की के रिश्तेदारों ने आकर पकड़कर  पुलिस को सौंप दिया. बाद में पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर  उजसे पूछताछ के बाद दूसरे आरोपी को भी अपनी गिरफ्त में ले लिया है. आरोपी अमोल जाधव और अमन हिल दोनों ठाणे की एक कंपनी में काम करते हैं. दोनों आरोपियों के खिलाफ धारा 307 और 354 के तहत मामला दर्ज किया गया है.

मिथिलेश गुप्ता 
डोंबिवली : - कल्याण के करीब खरड गांव की पहाड़ियों पर आग लगने की घटना घटी है । इस आग पर काबू पाने के लिए बदलापुर वनविभाग के आठ से दस कर्मचारियों द्वारा कड़ी मशक्कत शुरू है । आग ने भयंकर रूप धारण कर रही है इसे बुझाने के लिए वनविभाग के कर्मचारियों को घण्टो मेहनत करनी पड़ेगी । आग की तीव्रता को देखकर ऐसा अंदेशा लगाया जा रहा है कि वनविभाग के कुंभार्ली पहाड़ी को आग अपनी चपेट में ले सकती हैं ।

 

Mumbai Shocker: दो महीने तक नाबालिग के साथ बलात्कार करने के आरोप में मौसा गिरफ्तार
प्रतीकात्मक तस्वीर

भोईवाड़ा पुलिस ने एक 40 वर्षीय व्यक्ति को अपने 17 वर्षीय नाबालिग रिश्तेदार के साथ दो महीने से अधिक समय तक बलात्कार करने के आरोप में गिरफ्तार किया. पुलिस के अनुसार, लड़की लॉकडाउन के दौरान शहर में आई थी, हालांकि, जब वह हाल ही में अपने घर लौटी तो पता चला कि उसका बलात्कार हुआ है. लड़की के माता पिता ने उसे विश्वास में लेकर पूछताछ किया, जिसके बाद उसने खुलासा किया कि उसके मौसा ने कथित तौर पर उसका यौन शोषण किया. अपराध दर्ज होने के बाद उसके मौसा को मंगलवार को गिरफ्तार कर लिया गया. पुलिस के अनुसार धुले की रहने वाली लड़की लॉकडाउन के दौरान परेल में अपनी मौसी के यहां आई थी, आरोपी जो कि लड़की मौसा है, उसने इसका फायदा उठाया और जब भी परिवार के अन्य सदस्य बाहर जाते वो उसका बलात्कार करता. पुलिस को दिए बयान के अनुसार अगस्त और अक्टूबर के बीच आरोपी ने कई बार उसका शोषण किया. 

हाल ही में जब लड़की अपने घर लौटी उसने पेट में दर्द की शिकायत की और उसे टेस्ट के लिए डॉक्टर के पास ले जाया गया. परीक्षण के दौरान यह पता चला कि उसका यौन उत्पीड़न किया गया था. उसके माता-पिता ने तब उसे विश्वास में लिया तब उसने अपनी आपबीती सुनाई. अस्पताल के अधिकारियों ने धुले में स्थानीय पुलिस को सचेत किया, जिसने मौसा के खिलाफ जीरो एफआईआर दर्ज की और भोइवाड़ा पुलिस थाने में स्थानांतरित कर दिया क्योंकि अपराध उनके अधिकार क्षेत्र में था.  मंगलवार को भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा 376 (बलात्कार) के साथ-साथ यौन अपराधों से बच्चों के संरक्षण अधिनियम की संबंधित धाराओं के तहत अपराध दर्ज किया गया था. अपराध के वरिष्ठ निरीक्षक विनोद कांबले ने पंजीकरण की पुष्टि करते हुए कहा, "अपराध दर्ज होने के तुरंत बाद हमने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया और हमारी जांच चल रही है".

लड़की ने पुलिस को बताया कि, उसके मौसा ने उसे बताया कि उसने पहली बार उसका यौन शोषण करते हुए वीडियो शूट किया है और किसी को बताने पर उसे सर्कुलेट करने की धमकी दी थी. एक पुलिस अधिकारी ने कहा कि हम उसके दावे की पुष्टि कर रहे हैं.

hindmata mirror

Contact form

Name

Email *

Message *

Powered by Blogger.
Javascript DisablePlease Enable Javascript To See All Widget